उत्तर प्रदेश में सक्रिय मामलों की संख्या में गिरावट के कारण राज्य में कोरोना कर्फ्यू में ढील दी गई। अधिकांश स्थानों को एक निश्चित अवधि के लिए सप्ताह के दौरान खोलने की अनुमति दी गई है, हालांकि, वीकेंड पर कड़ी निगरानी और कर्फ्यू बनाया रखा जा रहा है। बहरहाल, उचित कोरोना प्रोटोकॉल के तहत पूजा स्थलों और औद्योगिक यूनिट्स को कार्य करने की अनुमति दी गई है।

अधिकतम 5 भक्तों को धार्मिक स्थलों के अंदर जाने की अनुमति


पहले धार्मिक स्थलों को केवल सप्ताह के दिनों में खुले रहने की अनुमति थी, लेकिन अब ये स्थान शनिवार और रविवार को भी खुले रहेंगे। वीकेंड पर खुले रहने के कारण स्थानों पर भीड़ अनावश्यक रूप से इकट्ठा न हो, इसके लिए यूपी सरकार ने कोरोना उपयुक्त दिशानिर्देश जारी किए गए हैं।

पूजा के स्थानों के अंदर एक निश्चित समय में 5 से अधिक भक्तों को अनुमति नहीं दी जाएगी और परिसर में जगह के हिसाब से अधिकतम 50 लोगों को प्रवेश करने की अनुमति होगी। इसके अलावा, औद्योगिक यूनिट्स वीकेंड में भी कार्य कर सकती हैं।

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया, "सरकार ने जहां सोमवार से ज्यादातर जगहों को खोल दिया है, वहीं वीकेंड पर कर्फ्यू लगाया जाएगा ताकि यह ध्यान दिया जा सके कि कोविड संक्रमण का रेट कम रहे। हालांकि, इस दौरान दोनों दिन धार्मिक स्थलों और औद्योगिक यूनिट्स को खोलने की अनुमति होगी। पुलिस को विनम्र और सहानुभूतिपूर्ण होना होगा और यह भी ध्यान देना होगा कि किसी भी स्थान पर अनावश्यक भीड़ न हो।"