मुख्य बिंदु: 

  • यमुना एकस्प्रेस-वे पर वाहनों की गति सीमा घटाई जाएगी।
  • कोहरे के कारण होने वाली दुर्घटनाओं को कम करने के लिए लिया गया यह निर्णय।
  • वाहनों की गति को 100 किमी प्रति घंटे से 75 किमी प्रति घंटे तक घटाया जाएगा।

यमुना एकस्प्रेस-वे पर हर वर्ष सर्दियों में कोहरे का कारण होने वाली दुर्घटनाओं को देखते हुए इस साल वाहनों की गति सीमा को घटा दिया गया है। जहां पहले वाहनों की गति सीमा 100 किमी प्रति घंटा हुआ करती थी, वहीं अब इसे 75 किमी प्रति घंटा कर दिया गया है। यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा इस व्यवस्था को अगले दो महीनों तक लागू किया जाएगा, जिससे दुर्घटनाओं को कम किया जा सके।

एंट्री और एक्जिट प्वाइंट पर लगाई जाएंगी फॉग लाइट

यीडा के महाप्रबंधक परियोजना केके सिंह द्वारा जारी किए गए निर्देशों के अनुसार, गति सीमा के बोर्ड लगाए जाने के अलावा रिफ्लेक्टिव टेप और इंट्री एवं एक्जिट प्वाइंट पर फॉग लाइट भी लगाए जाएंगे।

परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने बताया कि सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान कई जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा चुके हैं। आगामी महीनों में कोहरा पड़ता है, इसे देखते हुए फिलहाल सतर्कता बरती जा रही है। यीडा (यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण) ने यह कदम उठाया है। हादसे रोकने में यह उपाय काफी कारगर होता है।

रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2020 में सिर्फ कोहरे कारण के 6,700 दुर्घटनाएं दर्ज की गईं थी, जिसमें 3,705 लोगों की मृत्यु हो गई थी और 4,334 लोग घायल हुए थे। ऐसे आंकड़ों को देखते हुए, इस वर्ष यह महत्वपूर्ण हो जाता हैं कि ऐसा दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए कड़े कदम उठाए जाएं।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *