उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों को बेहतरीन सुविधाओं से लैस करने का कार्य अब शुरू हो गया है। प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लगों को शहर जैसी सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए सरकार ने इस ओर काम करना शुरू कर दिया है। इसी के चलते पहले चरण में ग्रेनो में 14 गांवो को स्मार्ट विलेज के रूप में विकसित करने का काम शुरू हो गया। साथ ही गौतमबुद्ध नगर का मायचा गांव प्रदेश का पहला स्मार्ट विलेज बनने जा रहा है। इस स्मार्ट विलेज प्रोजेक्ट पर 150 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसमें सड़क, पानी और बिजली ही नहीं बल्कि फ्री वाईफाई, निजी स्कूलों क्व तरह अपग्रेडेड सरकारी स्कूल, लाइब्रेरी और पार्क जैसी सुविधाएं मिलेंगी। ग्रेनो प्रवक्ता ने बताया कि पहले चरण में पायलट प्रोजेक्ट में शामिल गांवो के विकास के लिए 67.59 करोड़ रुपये से कार्य शुरू हो गए हैं। 15 करोड़ के कार्य के लिए टेंडर निकालने की प्रक्रिया चल रही है। गांवो के विकास के लिए 62.45 करोड़ का बजट तैयार किया जा रहा है।

स्मार्ट विलेज बन जाने से गांव के लोगों को होगा फायदा


ग्रेनो अथॉरिटी के सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि मायचा को स्मार्ट विलेज बनाने में करीब 12 करोड़ रुपये खर्च होंगे। गांव के तालाब का सौंदर्यीकरण होगा, खेल का मैदान विकसित किया जाएगा, रोड, बिजली, सीवर, पानी, सामुदायिक केंद्र, कॉमन हॉल और लाइब्रेरी आदि सुविधाएं विकसित की जाएंगी। इन कार्यो को 1 साल में पूरा करने का लक्ष्य है। मायचा गांव के किसानों का कहना है कि गांव में वाईफाई आने के बाद ऑनलाइन पढ़ाई से वंचित बच्चों को बड़ी सुविधा मिलेगी।

पहले चरण में 14 गांवों को मॉडल/स्मार्ट विलेज के रूप में विकसित किया जाएगा


ग्रेनो प्राधिकरण ने शहर की तर्ज पर पहले चरण में 14 गांवो को मॉडल/स्मार्ट विलेज के रूप में विकसित करने का फैसला लिया है। इन गांवों में मायचा, छपरौला, सादुल्लापुर, तिलपता-करनवास, घरबरा, चीरसी, लडपुरा, अमीनाबाद उर्फ नियाना, सिरसा, घंघोला, अस्तौली, जलपुरा, चिपियाना खुर्द तिगड़ी व यूसुफपुर चकशाहबेरी गांव शामिल हैं। इन गावों में खेल के मैदान से लेकर बच्चों के पढ़ने के लिए वाईफाई तक का इंतजाम किया जाएगा। इन गांवो की डीपीआर बनाने का काम भारत सरकार की संस्था वैपकॉस लिमिटेड को दिया गया है। इसने मायचा, जलपुरा, घरबरा और अमीनाबाद नियाना का डीपीआर बनाकर 3 महीने में दे दिया था। सभी गांवो में इस साल के अंत तक काम शुरू हो जाएगा।