जरूरी बातें

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यूपी पुलिस में विभिन्न पदों पर तैनात कर्मियों के भत्तों में वृद्धि की।
निरीक्षक, उपनिरीक्षक, लिपिक संवर्ग के कर्मचारियों के पौष्टिक भत्ते को 1200 रुपये से बढ़ाकर 1500 रूपये किया गया।
मुख्य आरक्षी और आरक्षी पद के कर्मचारियों के पौष्टिक भत्ते को 1500 रुपये से बढ़ाकर 1875 रुपये किया गया।
चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के पौष्टिक भत्ते को 1350 रूपये से बढ़ाकर 1688 रूपये किया गया।
प्रादेशिक शस्त्र बल (पीएसी) व नागरिक पुलिस की फील्ड ड्यूटी पर तैनात विभिन्न कर्मचारियों को दो भागों में दिया जाएगा सीयूजी (CUG) सिम भत्ता।

 उत्तर प्रदेश सरकार ने यूपी पुलिस में विभिन्न पदों पर तैनात कर्मियों के भत्तों में वृद्धि कर दी है। इसी के तहत निरीक्षक, उपनिरीक्षक, लिपिक संवर्ग, मुख्य आरक्षी और आरक्षी पद के कर्मियों के लिए उनके पौष्टिक आहार भत्ते में 25 फीसदी की वृद्धि की है। जो कर्मचारी निरीक्षक, उपनिरीक्षक, लिपिक संवर्ग के पदों पर कार्यरत हैं उनके पौष्टिक भत्ते को 1200 रुपये से बढ़ाकर 1500 रूपये कर दिया गया है। साथ ही जो कर्मचारी मुख्य आरक्षी और आरक्षी पद पर कार्यरत हैं उनके पौष्टिक भत्ते को 1500 रुपये से बढ़ाकर 1875 रुपये कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के पौष्टिक भत्ते को 1350 रूपये से बढ़ाकर 1688 रूपये कर दिया गया है।

पीएसी और फील्ड ड्यूटी पर तैनात कर्मियों को भी दिया जायेगा सिम भत्ता

प्रदेश में कानून एवं शांति व्यवस्था को बनाये रखने वाले प्रादेशिक शस्त्र बल (पीएसी) और नागरिक पुलिस को भी उत्तर प्रदेश शासन ने सीयूजी (CUG) सिम भत्ता देने का निर्णय लिया है। इसी के तहत प्रादेशिक शस्त्र बल (पीएसी) व नागरिक पुलिस की फील्ड ड्यूटी पर तैनात उपनिरीक्षक, मुख्य आरक्षी तथा आरक्षी तक के कर्मियों को यह लाभ दिया जायेगा। 2000 रुपये का यह सीयूजी (CUG) सिम भत्ता वार्षिक रूप से दो भागों में दिया जाएगा। पहली जनवरी से जून तक के लिए 1000 रुपये की राशि दी जायेगी। वहीँ शेष 1000 रुपये की राशि को जुलाई से दिसंबर के लिए दिया जायेगा। प्रदेश में होने वाली घटनाओं को रोकने के लिए और घंटनास्थल पर तुरंत पहुंचने के लिए यह विशेष निर्णय लिया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *