उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (Uttar Pradesh Cricket Association) की रविवार को लखनऊ के इकना स्टेडियम में बैठक आयोजित की गई। इसमें नए सत्र की खेल गतिविधियों को शुरू करने पर निर्णय लिए गए। बैठक में प्रदेश भर के सभी जिलों से आए प्रतिनिधियों ने शिरकत की। एसोसिएशन की ओर से सभी जिला इकाइयों को निर्देश दिए की अगस्त के पहले हफ्ते से सभी वर्गों के ट्रायल शुरू हो जाएं ताकि सितम्बर के बीच से शुरू होने वाले सत्र से पहले यूपी की टीमें तैयार हो सकें। बैठक में लखीमपुर खीरी, जालौन, जौनपुर आदि जिलों के प्रतिनिधियों ने एसोसिएशन से अपने शहर में क्रिकेट ग्राउंड बनाने का अनुरोध किया ताकि वहां की क्रिकेट को स्थापित किया जा सके। इस दौरान कोरोना के चलते आर्थिक मंदी की मार झेल रहे क्रिकेटरों और अंपयरो को एसोसिएशन की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया गया है।


एसोसिएशन के सीईओ दीपक शर्मा ने बताया कि सत्र की शुरुआत 21 सितम्बर को सीनियर वीमेन नेशनल वनडे चैंपियनशिप के साथ होगी, जबकि इसके बाद 28 सितम्बर वीनू माकंड़ ट्राफी क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन होना सुनिश्चित है। ऐसे में प्रदेश भर में अगस्त के पहले हफ्ते से ट्रायल शरू होने बेहद जरूरी है ताकि सितम्बर के पहले हफ्ते तक अंडर - 16, 19, 23 और ओपन वर्ग की टीमें तैयार हो सके। बैठक में उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (Uttar Pradesh Cricket Association) के निदेशक राजीव शुक्ला, सचिव युद्धवीर सिंह समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

खिलाड़ियों को 31 जुलाई तक करना होगा पंजीकरण


प्रदेश के खिलाड़ी जो यूपी के लिए खेलना चाहते है उन सभी खिलाड़ियों को 31 जुलाई तक यूपीसीए में पंजीकरण करना होगा और इससे जुड़ी अधिक जानकारी के लिए खिलाड़ियों को अपने जिला क्रिकेट संघों से संपर्क करना होगा।