मुख्य बिंदु

भारत के 52वें अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में यूपी को फिल्म शूटिंग के लिए सबसे अनुकूल राज्य का अवॉर्ड मिला।
यूपी में जेवर के पास 1000 एकड़ में फिल्म सिटी विकसित की जा रही है।
सरकार को फिल्म सिटी में 10 हजार करोड़ से अधिक निवेश का अनुमान है।
सरकार ने प्रदेश में फिल्म उद्योग को प्रोत्साहित करने के लिए फिल्म नीति-2018 लागू की है, जिसमें निर्माताओं को विभिन्न सुविधाएं देने की व्यवस्था की गई है।

Collage of film shot in Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश में फिल्म निर्माण को बढ़ावा देने के लिए और शूटिंग के लिए फिल्म निर्माताओं को एक बेहतर और सुरक्षित माहौल प्रदान करने के लिए यूपी सरकार के प्रयासों को बड़ा प्रोत्साहन मिला है। गोवा में आयोजित 52वें इंटरनेशनल फिल्म समारोह 2021 में उत्तर प्रदेश को फिल्मों की शूटिंग के लिए सबसे अनुकूल राज्य का पुरुस्कार मिला है।

सरकार की ओर से पुरस्कार प्राप्त करने वाले अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने वहां फिल्म निर्माताओं को यूपी फिल्म सिटी में आने का भी न्योता दिया है। इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का बीते रविवार को समापन था, जिसमें केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश को यह पुरुस्कार दिया है।

फिल्म सिटी में 10 हजार करोड़ से अधिक निवेश अनुमानित है

52वें इंटरनेशनल फिल्म समारोह 2021 के अवसर पर नवनीत सहगल ने कहा कि प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देशन में फिल्म निर्माण से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों को लगातार प्रोत्साहित कर रही है। हाल ही में प्रधामंत्री द्वारा जेवर में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया गया।

इसके पास ही एक 1000 एकड़ एरिया पर फिल्म सिटी बनाई जा रही है। इसमें प्री-प्रोडक्शन, पोस्ट-प्रोडक्शन, शूटिंग सहित फिल्म निर्माण से संबंधित सभी आवश्यक सुविधाएं एक छत के नीचे देने का प्रयास किया जा रहा है। फिल्म सिटी में 10, 000 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश का अनुमान है।

फिल्म प्रोत्साहन नीति

उत्तर प्रदेश में फिल्म निर्माताओं को यूपी फिल्म सिटी में निवेश के लिए आमंत्रित किया जा रहा है और टेंडर की प्रक्रिया की जा रही है। जमीन के लिए प्रदेश सरकार कोई धनराशि नहीं लेगी, बल्कि लाइसेंस पर देने की व्यवस्था की जाएगी और दी गई जमीन के लिए सालाना किराया निर्धारित किया जाएगा।

अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि फिल्म निर्माण के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश में विपुल संस्कृति और धरोहर मौजूद है। उत्तर प्रदेश का गौरवशाली इतिहास, इसकी वैभवपूर्ण वास्तुकला, समृद्ध परंपराओं और स्थानीय संस्कृतियों की विविधता आदि फिल्म निर्माण के लिए एक आकर्षण का बड़ा केंद्र बनती है। सरकार ने प्रदेश में फिल्म उद्योग को प्रोत्साहित करने के लिए फिल्म नीति-2018 लागू की है, जिसमें निर्माताओं को विभिन्न सुविधाएं देने की व्यवस्था की गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *