मुख्य बिंदु

अब हिंदी में भी बीटेक कोर्स कर सकेंगे छात्र।
एकेटीयू (AKTU) नए सत्र 2021-22 से बीटेक की पढ़ाई हिंदी में करवाएगा।
क्लास से लेकर परीक्षा, पाठ्यक्रम सब कुछ हिंदी भाषा में होगा।

राष्ट्रीय शिक्षा निति (National Education Policy) के तहत क्षेत्रीय भाषाओँ में पढ़ाई को बढ़ावा देने के लिए एकेटीयू (AKTU) नए सत्र 2021-22 से बीटेक की पढ़ाई हिंदी में करवाएगा। इसकी शुरुआत पहली बार चार संबद्ध संस्थानों से हो रही है, और आगे इसे बढ़ाया जाएगा। इसके लिए हिंदी की किताबें भी महीने के अंत तक उपलब्ध कराई जाएंगी।

हिंदी में होगा पूरा कोर्स, परीक्षा और पाठ्यक्रम

एकेटीयू से संबद्ध कॉलेजों में अजय कुमार गर्ग इंजीनियरिंग कॉलेज गाजियाबाद, जीएल बजाज इंस्टिट्यूट ग्रेटर नोएडा, एनआईटी ग्रेटर नोएडा और पीएसआईटी कानपुर में नए सत्र से बीटेक इन कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएस एंड आईटी) में हिंदी में पढ़ाई होगी। इन कॉलेजों में यह कोर्स नई ब्रांच (इमर्जिंग एरिया) के रूप में शुरू होगा। इसमें क्लास, नोट्स, असाइनमेंट और परीक्षा के अलावा पूरा कोर्स हिंदी में तैयार किया गया है।

एआईसीटीई (AICTE) जल्द हिंदी में किताबें भी उपलब्ध कराएगी

शिक्षा मंत्रालय के निर्देश पर अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (All India Council for Technical Education) ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई हिंदी और अन्य क्षेत्रीय भाषाओँ में शुरू करने की पहल की थी। इसका उद्देश्य ग्रामीण इलाकों के और हिंदी के विद्यार्थियों को बेहतर विकल्प देना है। कई बार उन्हें अंग्रेजी में पढ़ाई करने और समझने में दिक्कत होती है। पिछले साल से ही हिंदी की किताबें तैयार कराने की कवायद शुरू हुई और विवि स्तर पर इसका पाठ्यक्रम तैयार करवाया गया है। एकेटीयू के कुलपति, प्रोफेसर विनीत कुमार कंसल के कहा कि हिंदी भाषा विद्यार्थियों के लिए एक अच्छी पहल है। कई बार पढ़ाई का मोड उन पर भारी पड़ता था। कांसेप्ट क्लियर न होने से उन्हें आगे दिक्कत आती थी, उम्मीद है कि यह पहला सफल होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *