कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण प्रदेश में सभी स्कूल और कॉलेज पिछले 5 महीने से बंद चल रहे है। अब जब कि कोरोना के मामले नियंत्रित है और हालात काबू में है, ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार ने स्कूल और कॉलेज को फिर से खोलने का निर्णय ले लिया है। यूपी सरकार ने 16 अगस्त से 9वीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूलों को खोलने का निर्देश दिया है, फिलहाल स्कूलों को 50 फीसदी की क्षमता के साथ ही खोला जाएगा। वहीं, 1 सितंबर से कॉलेज और विश्वविद्यालय खुल जाएंगे। राज्य सरकार ने 5 अगस्त से कॉलेज और विश्वविद्यालय में छात्रों के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा माध्यमिक शिक्षा विभाग के प्रोमोटेड छात्रों के प्रवेश प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश भी दिए गए हैं। उच्च शिक्षण संस्थानों के छात्रों की प्रवेश प्रक्रिया 5 अगस्त से शुरू होगी।

सख्ती से करना होगा कोविड प्रोटोकॉल का पालन


शिक्षण संस्थानों में अध्ययन/अध्यापन प्रारंभ होने के दृष्टिगत सैनिटाइजर, इंफ्रारेड थरमामीटर, मास्क आदि की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी। दो गज की दूरी की अनिवार्यता के अनुरूप व्यवस्था करनी होगी और हर संस्थान में कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करना होगा।

इसके अलावा यूपी सरकार ने कहा है कि शिक्षण संस्थानों के प्रारंभ होने के साथ 18 वर्ष से अधिक आयु के विद्यार्थियों के टीकाकरण के विशेष शिविर लगाया जाना उचित होगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस संबंध में पहले से ही सभी जरूरी तैयारी कर ली जाए। सभी परिषदीय विद्यालयों में स्वच्छता/सैनीटाइजेशन कराई जाए। शौचालयों की साफ-सफाई हो। कक्षाएं भी स्वच्छ रहें। बेसिक शिक्षा विभाग से समन्वय बनाकर ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज विभाग द्वारा इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही की जाए।