जब झरनों की बात आती है तो हमारे दिमाग में सीधा किसी और देश या फिर पूर्वोत्तर और दक्षिण भारत के राज्यों का ख्याल आता है। उत्तर प्रदेश भारत के सबसे बड़े राज्यो में से एक है लेकिन क्या आपको पता है कि उत्तर प्रदेश में भी कई बेहद सुंदर झरने मौजूद हैं, जो सदाबाहर मशहूर रहते हैं।

इन झरनों की खूबसूरती को देखने का एक अलग ही आनंद है। यहां हम आपको इन्हीं झरनों के बारे में बता रहे हैं, जिनकी खूबसूरती देखकर आपका दिल वहां से लौटने का नहीं करेगा। वहां मौजूद प्राकृतिक दृश्य जैसे पेड़-पौधें, नदियां, और पक्षियां आपके मन को नकारात्मक से सकारात्मक की ओर लेकर जाएंगी, मानसून के दौरान इन झरनों की खूबसूरती काफी बढ़ जाती है। यदि आप भी झरनों का आनंद उठाना चाहते हैं, तो उत्तर प्रदेश में स्थित इन झरनों का लुफ्त मजा उठा सकते हैं। आइए यहां हम आपको इन प्रसिद्ध झरनों के बारे में बताते हैं।

लखनिया दरी, मिर्ज़ापुर

लखनिया दरी झरना मिर्ज़ापुर जिले में स्थित है। चुनार शहर से लगभग 22 किलोमीटर दूर पहाड़ों के बीच मौजूद इस झरने की खूबसूरती देखकर सभी मंत्रमूग्ध हो जाते हैं। आसपास के जिलों के लोग यहां काफी आते हैं। ये झरना मिर्जापुर के लोगों में दिलों में बसा है। लगभग 100 मीटर से अधिक ऊंचाई से झरने का बहता पानी अद्भुत नज़ारा प्रस्तुत करता हैं। आप इसके आसपास ट्रेकिंग का भी लुत्फ़ उठाने के लिए पहुंच सकते हैं। ये जगह एडवेंचर से भी भरी हुई है।

तंडा झरना, मिर्ज़ापुर

अगर आप रोज़मर्रा की भागदौड़ भरी और व्‍यस्‍त जिंदगी से कुछ समय का ब्रेक लेकर किसी शांतिमय और खूबसूरत जगह पर जाना चाहते हैं तो आपके लिए तंडा झरना सबसे बेहतर रहेगा। तंडा झरने के प्राकृतिक सौंदर्य को देखकर आपके मन को सुकून का अहसास होगा। दक्षिण में मिर्जापुर से 14 किमी दूर ये झरना बहता है। मॉनसून के मौसम में इस झरने के आसपास कई तरह की वनस्‍पतियां और जीव देखने को मिलते हैं। झरने के एक दम सामने तंडा बांध बना हुआ है। यहां बैठकर आप आराम से झरने और इसके आसपास के सौंदर्य को निहार सकते हैं।

मुक्‍खा झरना, सोनभद्र

यह झरना उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में है। रोबर्ट्सगंज से इसकी दूरी लगभग 50 किलोमीटर है। झरने से थोड़ी दूरी पर ही सलखन फॉसिल पार्क मौजूद है, जो दुनिया का सबसे पुराना जीवाश्म पार्क है। मानसून के दौरान इस झरने की रंगत और खूबसूरती का लुत्फ़ उठाने के लिए देश के कोने-कोने से सैलानी घूमने के लिए आते हैं। यह झरना देवी मंदिर के नज़दीक है और यहाँ आप बेलन नदी भी देख सकते हैं। मॉनसून के दौरान इस झरने की खूबसूरती दोगुनी हो जाती है। यहाँ अक्सर सैलानी परिवार के साथ घूमने के लिए आते हैं। यहाँ मौजूद विजयगढ़ किला, नौगढ़ किला जैसे प्राचीन महलों में भी घूमने के लिए जा सकते हैं।

विंधाम झरना, मिर्ज़ापुर

मिर्ज़ापुर जिले में इस खूबसूरत झरने का नाम ब्रिटिश संग्राहक विंधाम के नाम पर पड़ा है। वाराणसी से इस झरने की दूरी 90 किलोमीटर है। यह झरना आसपास के सैलानियों का फेवरेट पिकनिक स्‍पॉट है। ​ये पूरी घाटी ही हरियाली से भरी हुई है। नीले रंग के आकाश के नीचे सफेद पानी का झरना और हरी-भरी घास का दृश्‍य मन को मंत्रमुग्‍ध कर देता है। इस जगह पर कुक आउट स्‍पॉट भी है। यहाँ भीड़ कम होती है लेकिन ये जगह सच में अद्भुत है

सिद्धनाथ दरी, मिर्ज़ापुर

मिर्ज़ापुर स्थित सिद्धनाथ दरी झरना सैलानियों के आकर्षण का एक प्रमुख केंद्र है। जिले के राजगढ़ ब्लॉक के जौगढ़ गांव में स्थित यह झरना एक किलोमीटर के क्षेत्र में फैला है। इसके पास ही स्वामी अड़गड़ानंद महाराज का आश्रम भी है। यह भी उत्तर प्रदेश के काफी प्रसिद्ध झरनों में से एक हैं।

चूनादरी झरना, मिर्ज़ापुर

लगभग 165 फीट की ऊंचाई से गिरने वाला यह झरना बेहद खूबसूरत है। चूनादरी झरना लखियाना दरी झरने के पास ही मौजूद है। लेकिन दोनों झरनों के बीच का रास्‍ता काफी मुश्किल है। झरने की तलहटी में एक बड़ा सा पत्‍थर मौजूद है जो आकर्षण का केंद्र है। इस झरने का पानी लखियानी दरी में जाकर गिरता है। इस झरने की गहराई के बारे में बता पाना मुश्किल है। 

राजदरी-देवदरी झरना, चंदौली

ये वॉटरफॉल उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले में मौजूद है और वाराणसी से अधिक दूर भी नहीं है। यह झरना चंद्रप्रभा वाइल्ड लाइफ सेंचुरी की सीमा से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह उत्तर प्रदेश के सबसे खूबसूरत की झरनों में से एक है। लगभग 65 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद राजदारी और देवदारी झरने को पूर्वांचल का स्वर्ग कहा जाता है। चंद्रप्रभा वन्यजीव अभयारण्य के बीच मौजूद इस झरने को उत्तर-भारत में मौजूद सबसे बेहतरीन और खूबसूरत झरनों में से एक माना जाता है। बरसात के मौसम में इसका रंगत देखते ही बनता है। राजदारी के ठीक बगल में मौजूद है देवदारी झरना जिसे संयुक्त रूप से राजदारी और देवदारी वॉटरफॉल के नाम से जाना जाता है। इस झरने के प्राकृतिक सौंदर्य को देखकर पर्यटकों का मन मंत्रमुग्‍ध हो जाता है और इसीलिए इस जगह को पिकनिक स्‍पॉट बना दिया गया है। पर्यटकों के लिए ये जगह वाकई में बहुत खूबसूरत है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *