उत्तर प्रदेश ने टीकाकरण अभियान के ज़रिए 50 लाख से अधिक नागरिकों को टीके की दोनों खुराक लगाकर एक उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की है। रिकॉर्ड के अनुसार, राज्य में 50.14 लाख व्यक्तियों को घातक वायरस के खिलाफ टीके की दोनों डोज़ लगाई गई हैं, और कोविन पोर्टल के अनुसार राज्य में टीके की अब तक 3.35 करोड़ से अधिक डोज़ लगाई जा चुकी हैं। सोमवार को, राज्य में 8.38 लाख से अधिक लोगों के टीकाकरण के साथ वैक्सीन प्राप्त करने वाले लोगों की संख्या में एक महत्वपूर्ण वृद्धि दर्ज की गई।

उत्तर प्रदेश बना 50 लाख से अधिक नागरिकों का पूर्ण टीकाकरण करने वाला चौथा राज्य

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक राज्य में 2,84,91,974 लोगों को कम से कम पहली खुराक दी जा चुकी है। इसके अलावा, 50,14,017 नागरिकों को इम्युनिटी बूस्टर वैक्सीन की दोनों डोज़ मिल चुकी है। इसके अलावा, आंकड़े बताते हैं कि राज्य में 14 करोड़ व्यक्तियों की कुल लक्षित आबादी में से केवल 3.5% को ही टीके की दोनों खुराक लगाई गई है।

 50 लाख से अधिक लोगों को टीके की दोनों डोज़ लगाकर, उत्तरप्रदेश ऐसा करने वाला चौथा राज्य बन चुका है। इस सूची में क्रमश: 69.87 लाख, 60.82 लाख और 56.75 लाख टीके की दोनों प्राप्त वाले व्यक्तियों के साथ महाराष्ट्र, गुजरात और पश्चिम बंगाल शीर्ष पर हैं। उत्तर प्रदेश के बाद, राजस्थान और कर्नाटक अगले स्थान पर हैं।

क्लस्टर टीकाकरण अभियान से राज्य में टीकाकरण कार्यक्रम को आगे बढ़ाया जा रहा है


 


सरकारी अधिकारियों के अनुसार, क्लस्टर टीकाकरण कार्यक्रम राज्य में टीकाकरण की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। तकनीक की कमी और अपर्याप्त परिवहन सुविधाओं के कारण राज्य के टीकाकरण कार्यक्रम में बाधा आ रही थी, लेकिन क्लस्टर ड्राइव ने टीकों की पहुंच को सफलतापूर्वक बढ़ाया है। इसके परिणामस्वरूप, राज्य में 24 जून को टीकाकरण करवाने वाले 8.63 लाख लाभार्थियों की अधिकतम संख्या दर्ज की गई थी, और सोमवार को दूसरी सबसे बड़ी संख्या दर्ज की गई।

अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस), स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, अमित मोहन प्रसाद ने कहा, “राज्य भर में क्लस्टर मॉडल शुरू किया गया है और अब टीकाकरण के लिए उत्साह दिखाई दे रहा है। हालांकि, यह याद रखना ज़रूरी है कि टीका लगवाने के बाद भी कोविड -19 उपयुक्त व्यवहार की अनदेखी करना सही नहीं है।”

यूपी के 40 जिलों में सोमवार को संक्रमण का कोई नया मामला सामने नहीं आया

वर्तमान में, उत्तर प्रदेश के केवल 6 शहरों में 75 से अधिक सक्रिय रोगी हैं, जिनमें प्रयागराज, लखनऊ, कुशीनगर, मैनपुरी, मेरठ और वाराणसी शामिल हैं। जहां राज्य के 40 जिलों में सोमवार को कोई नया मामला सामने नहीं आया, वहीं गोरखपुर, गौतम बुद्ध नगर, गाजियाबाद और सुल्तानपुर में 5 से अधिक मामले दर्ज किए गए।

राज्य के लिए राहत की बात यह है कि संक्रमण का ग्राफ लगातार गिर रहा है और दूसरी ओर रिकवरी रेट में सुधार हो रहा है। अब तक, उत्तर प्रदेश में 2,181 सक्रिय मामले हैं।

– आईएनएस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *