उत्तर प्रदेश में 1 जून से प्रदेश के सभी जिलों में 18 से 44 वर्ष की आयु वालों को टीकाकरण शुरू किया जाएगा। प्रदेश में मौजूद समय में 23 जिलों में यह अभियान चल रहा है। मुख्यमंत्री ने आदेश दिया है कि जिन जिलों में संक्रमण अधिक है, उनके ग्रामीण क्षेत्रों में भी टीकाकरण कराया जाना चाहिए। इसके साथ ही प्रदेश के हर जिले में न्यायिक अधिकारीयों और मीडिया कर्मियों के लिए टीककरण के लिए अलग से विशेष शिविर लगाए जाएंगे।

10 साल तक के बच्चों के माता -पिता पहले पाएंगे टीका

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से पहले प्रदेश में 10 साल तक के बच्चों की माता -पिता को चिन्हित कर टीकाकरण होगा। इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि जून में टीकाकरण की गति दोगुनी से भी ज्यादा तेज करेंगे। 

यूपी में 10 लाख से ज्यादा युवाओं का हुआ टीकाकरण

उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा राज्य है और ऐसे में इस महामारी के खिलाफ जंग में प्रदेश ने एक और बड़ी उपलब्धि हासिल की है। देश के सभी राज्यों के मुकाबले उत्तर प्रदेश में 1 मई से जब से 18-44 की श्रेणी के लिए पंजीकरण शुरू हुआ, तब से राज्य में लगभग दस लाख युवा टीका ले चुके हैं, जो कि पूरे देश में सबसे अधिक है, और इसी उपलब्धि के साथ युवाओं को वैक्सीन लगाने में यूपी सबसे आगे है। राज्य में अब तक टीके की 1,62,16,379 खुराकें दी हैं। इनमें से 1,28,74,451 ने अपनी पहली खुराक प्राप्त कर ली है और लगभग 33,41,928 को वैक्सीन की दूसरी खुराक मिल गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *