उत्तर प्रदेश राज्य ने वंचितों को मुफ्त चिकित्सा सहायता सुविधा प्रदान करने के लिए एक नया अभियान शुरू किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस सेवा को उन लोगों के लिए शुरू किया गया है जो प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के आयुष्मान कार्ड की सुरक्षा में शामिल नहीं हैं। लाभार्थियों को एक गोल्डन कार्ड जारी किया जाएगा, जो देश के किसी भी अस्पताल में बिना किसी खर्चे के ₹5 लाख के इलाज का लाभ उठा सकते हैं।

यूपी गोल्डन कार्ड धारकों को ₹5 लाख का स्वास्थ्य बीमा प्रदान करेगा

आयुष्मान योजना का विस्तार करते हुए उत्तर प्रदेश प्रशासन ने यहां 6.5 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है। सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि राज्य कैबिनेट ने यूपी में 40 लाख से अधिक अंत्योदय कार्डधारक परिवारों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से जोड़ने का भी फैसला किया है।

यह योजना गरीब और वंचित लोगों को चिकित्सा के संबंध में एक बड़ी आर्थिक राहत देने के लिए तैयार है। इसके अलावा, यह लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के कई लाभ प्रदान करेगा। लोग कार्यक्रम के तहत सूचीबद्ध किसी भी निजी या सरकारी अस्पताल में योजना का लाभ उठा सकते हैं।

यह योजना देश की चिकित्सा व्यवस्था को बेहतर बनाने की दिशा में एक बड़ा कदम है, जिसमें किसी की स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं शामिल हैं। राष्ट्रीय स्तर पर ‘आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य’ और राज्य में ‘मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना’ जनकल्याण के उद्देश्य से लागू की जा रही हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *