नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश में 5 करोड़ से अधिक कोविड परीक्षण किए गए हैं, जिससे यह उपलब्धि हासिल करने वाला यह देश का पहला राज्य बन गया है। मंगलवार को, राज्य भर में 3,23,795 व्यक्तियों का कोविड परीक्षण किया गया और केवल 1,221 मामले पॉजिटिव पाए गए।

अब तक कुल 5 करोड़ 32 हजार टेस्ट किए जा चुके हैं। इसके अलावा, संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए, राज्य सरकार ने बाल चिकित्सा के बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने के लिए कई तरह के उपाय किए हैं।

सक्रिय मामलों में आई गिरावट

बढ़े हुए परीक्षण से राज्य को महामारी की दूसरी लहर के प्रकोप से निपटने में मदद मिली है। इसके अलावा, 1 जून तक, यूपी में रिकवरी दर भी लगभग 97% हो गई है। सक्रिय मामलों की संख्या में भी गिरावट देखी जा रही है, जिससे वर्तमान में राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 32,464 तक पहुंच गई है।

राज्य में तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां जारी हैं

उत्तर प्रदेश के शीर्ष अधिकारियों ने कहा है कि कोविड की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए विशेष उपाय किए गए हैं। चूंकि तीसरे लहर के दौरान, बच्चों के प्रभावित होने की संभावना अधिक होती है, यूपी सरकार बाल चिकित्सा इकाइयों पर विशेष ध्यान देने के साथ चिकित्सा बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने का प्रयास कर रही है। इसके लिए, राज्य भर के सभी मेडिकल कॉलेजों में पीआईसीयू लगाए जाएंगे।

लखनऊ के एसजीपीजीआईएमएस के मार्गदर्शन में मेडिकल स्टाफ को पहले से तैयार करने के लिए वर्चुअल और फिजिकल ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित किए जाएंगे। इसके अलावा 12 साल से कम उम्र के बच्चों के माता-पिता को टीका लगाने के लिए टीकाकरण केंद्रों पर अलग से इंतजाम किए गए हैं। इन व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए यूपी के हर जिले में कम से कम दो ऐसे केंद्र स्थापित किए गए हैं।

– आईएएनएस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *