आगरा एक्सप्रेस-वे पर सुगम यातायात और ट्रैफिक कंट्रोल के लिए 15 पुलिस चौकियां बनाई जाएंगी। फिलहाल 5 जगह निर्माण शुरू हो गया है तो बाकी 10 चौकियों के लिए जमीन चिन्हित की जा रही है। माना जा रहा है कि यूपीडा जल्द इनके लिए गृह विभाग को जमीन हस्तांतरित करेगा। इन चौकियों के बनने पर पुलिस चेकिंग पॉइंट बनाकर डग्गामार वाहनों के बनने पर भी नकेल कस सकेगी।

आगरा एक्सप्रेस-वे पर होने वाले हादसों पर रोक लगाने, छुट्टा मवेशियों को सड़क पर आने से रोकने और डग्गामार वाहनों के संचालन पर लगाम लगाने के लिए 15 जगहें चिन्हित की गई हैं। गृह विभाग यहां पुलिस चौकियां बनवाएगा। इसके लिए अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास विभाग (यूपीडा) को पत्र भेजकर चिन्हित जमीन ग्रह विभाग को निःशुल्क हस्तांतरित करने के लिए कहा है। 

एक्सप्रेस-वे की चौकियों पर थाने जैसी सुविधाएं मिलेंगी

पुलिस चौकियां पर फोर्स की तैनाती के लिए भी गृह विभाग प्रस्ताव तैयार क रहा है। एक्सप्रेस-वे की इन चौकियों पर थाने जैसी सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी। हर पुलिस चौकी के दायरे में चेकिंग पॉइंट भी तय किए जा रहे हैं। इसके साथ यूपीडा पुलिस चौकियों के लिए ऐसे जगहें चिन्हित की है, जहां चौकी बनने पर बाद में एक्सप्रेस-वे के विस्तार में समस्या न हो। एक्सप्रेस-वे से गुजरने वालों की मदद के लिए हर पुलिस चौकी पर संबंधित अफसरों और बीट प्रभारी के मोबाइल फोन नंबर दर्ज करवाए जाएंगे। इसके साथ हर पुलिस चौकी से एंबुलेंस और क्रेन की कनेक्टिविटी भी तय की जाएगी। डग्गामार वाहनों पर नजर रखने के लिए पुलिस चौकियों पर सीसीटीवी कैमरे भी लगवाए जाएंगे। यहां तैनात पुलिसकर्मी भी बॉडी वॉर्न कैमरों से लैस होंगे।

आगरा एक्सप्रेस-वे के 350 किलोमीटर लंबे रूट पर अभी 10 वाहनों से निगरानी हो रही हैं। इसके लिए उप्र पूर्व सैनिक कल्याण निगम के कुल 120 एक्स-सर्विसमैन तैनात है। 5 जगहों पर 8-8 सैनिक कुल तीन शिफ्टों में ड्यूटी करते है। पुलिस चौकी बनने पर इन पूर्व सैनिकों को भी रास्ते में आसरा मिल सकेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *