ग्रामीण यूपी में सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में मेडिकल जांच की सुविधाओं को बढ़ाने के लिए कई प्रयास किये जा रहे हैं। इसी सम्बन्ध में,राज्य प्रशासन ने इन केंद्रों में हेल्‍थ एटीएम स्थापित करने का निर्णय लिया है। ये हेल्‍थ एटीएम साधारण एटीएम की तर्ज पर काम करेंगे और लोग इन मशीनों के जरिये खुद अपने स्‍वास्‍थ्‍य की जांच कर सकेंगे। 59 तरह की नि:शुल्क जांच करने के लिए यूपी के सभी 75 जिलों में एक चिकित्सा परिचारक द्वारा एकीकृत चिकित्सा उपकरणों के साथ वॉक-इन मेडिकल कियोस्क लगाए जाएंगे।

जमीनी स्तर पर जनता की जरूरतें पूरी करेंगे हेल्थ एटीएम


इन अत्याधुनिक हेल्थ एटीएम मशीनों के जरिये लोग बॉडी मास इंडेक्स, ब्लड प्रेशर, मेटाबॉलिक ऐज, बॉडी फैट, हाईड्रेशन, पल्स रेट, हाइट, मसल मास, शरीर का तापमान, शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा और वजन सहित कुल 59 तरह की स्‍वास्‍थ्‍य जांच कर सकेंगे। विशेषज्ञों के मुताबिक़ डॉक्टर डेली कंसलटेंसी के माध्यम से सीधे हेल्थ एटीएम से जुड़े होंगे।

मुख्यमंत्री ने तकनीशियनों को जल्द से जल्द प्रशिक्षित करने, नई मशीनों का उचित प्रबंधन सुनिश्चित करने और कियोस्क ' स्थापित करने की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश जारी किए हैं। यूपी का यह स्वास्थ्य कदम के ज़रिये राज्य मेडिकल जांच में तकनीकों को शामिल करेगा, ताकि दूरदराज के क्षेत्रों, अलग-अलग गांवों और ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा सकें।

राज्य को स्वास्थ्य एटीएम प्रदान करने के लिए कई औद्योगिक एजेंसियों की प्रतिक्रिया काफी उत्साहजनक है। ये नयी सुविधाएं जमीनी स्तर पर बेहतर चिकित्सा सुविधाओं को सुविधाजनक तरीके से लोगों तक पहुंचाने में मदद करेंगे। इसके अलावा, हेल्थ एटीएम लोगों को अपने समग्र स्वास्थ्य के बारे में अधिक जागरूक बनाएंगे। यह मरीजों और प्रमाणित डॉक्टरों के बीच नोडल लिंक भी होगा। स्वास्थ्य एटीएम के माध्यम से, परिचारक हाई-डेफिनिशन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, डिजिटल मेडिकल डिवाइस और वेब / मोबाइल एप्लिकेशन का उपयोग करके दोनों पक्षों को जोड़ने में सक्षम होंगे। टेस्टिंग से गुजर रहे लोगों को चिकित्सा सलाह भी दी जाएगी।

सिर्फ 16 मिनट में जांच!


अन्य सहायक प्रणालियां और प्रावधान जैसे ओपीडी सुविधाएं, स्वास्थ्य एटीएम से जुड़ी होंगी। मेडिकल रिपोर्ट की जांच के आधार पर, शारीरिक बीमारियों को नियंत्रित करने और मानसिक तनाव को कम करने के लिए खाने पीने का चार्ट प्रदान किया जाएगा। एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, "चूंकि अधिकांश डॉक्टर दूर-दराज के क्षेत्रों में काम नहीं करना चाहते हैं, इसलिए हेल्थ एटीएम की सुविधा ग्रामीण आबादी को स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करके इस अंतर को कम करेगी।"

"ये स्मार्ट मशीनें लगभग 16 मिनट में एक मेडिकल स्थिति की जांच कर सकती हैं और मुफ्त में दवाइयां भी देंगी, जो न केवल प्रचलित महामारी के बीच लोगों के लिए वरदान होगी, बल्कि कई तकनीशियनों के लिए रोजगार के अवसर भी पैदा करेगी,"