ज़रूरी बातें

लखनऊ में 24 जनवरी को यहां लगभग 1,818 नए कोरोनोवायरस मामले सामने आए।
यह लगातार दूसरे दिन रोज़ाना कोरोना मामलों की संख्या में हुई गिरावट।
राज्य स्तर पर तीन दिनों तक ताजा मामले लगातार नीचे की और रहे।
यूपी में पॉजिटिविटी रेट 19 जनवरी को 7.78% था।
जो घटकर एक सप्ताह से भी कम समय में 6.19% हो गया है।

लखनऊ में लगातार दुसरे दिन कोरोना के ताज़ा मामलों में गिरावट देखी गयी है, जिससे शहर को बड़ी राहत मिली है। 24 जनवरी को यहां लगभग 1,818 नए कोरोनोवायरस मामले सामने आए, जो रविवार को 2,326 और शनिवार को 2660 थे। 2402 लोगों के ठीक होने के साथ, रिकवर होने वालों की संख्या रोज़मे मामलों के भार की तुलना में अधिक मजबूत हो गई। हालांकि, वायरस से हुई एक मौत ने संकेत दिया कि कोरोना का खतरा पूरी तरह से कम नहीं हुआ है।

राज्य भर में कोरोना मामलों में गिरावट

कोरोना मामले के आंकड़ों में गिरावट को राज्य भर में देखा गया। राज्य स्तर पर तीन दिनों तक ताजा मामले लगातार नीचे की और रहे, जिससे यूपी में रिकवरी मज़बूत हुई। रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश में 11,159 नए कोविड मामले दर्ज किए गए, जो पहले दर्ज किये गए भारी केसलोड से काफी कम है।

यूपी के चिकित्सा स्वास्थ्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद के प्रेस बयान के अनुसार, राज्य में केस पॉजिटिविटी रेश्यो भी कम हो रहा है। सांख्यिकीय रूप से कहें तो उत्तर प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट 19 जनवरी को 7.78% से घटकर एक सप्ताह से भी कम समय में 6.19% हो गई है।

उत्तर प्रदेश में शुरू हुआ 5 दिवसीय टेस्टिंग कैंपेन

 

इस बीच, राज्य ने नए कोरोना ​​मामलों का पता लगाने और उनका इलाज करने के लिए पांच दिवसीय विशेष डोर-टू-डोर टेस्टिंग अभियान चलाया है। इस मॉडल ड्राइव के तहत परीक्षण करने के लिए सभी जिलों में आशा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और निगरानी समितियों के सदस्यों सहित 73,000 निगरानी समितियों को तैनात किया गया है। डोर-स्टेप टीमें कोरोना या इन्फ्लूएंजा जैसे लक्षणों वाले सभी लोगों के लिए आरटीपीसार परीक्षण मुहैया कराएंगी।

यूपी ने टीकाकरण की एक और उपलब्धि हासिल की

उत्तर प्रदेश ने कोरोना वायरस के टीके की 25 करोड़ से अधिक खुराक देने वाला भारत का पहला राज्य बनकर कोरोना के खिलाफ एक और ऐतिहासिक जीत हासिल की। देश में लगाए गए 162.7 टीकों में से अकेले यूपी ने 25.05 करोड़ लगाए हैं। इससे पता चलता है कि राज्य में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान का लगभग 15.3% हिस्सा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *