ज़रूरी बातें

कानपुरवासियों को नए साल पर तीन डोज़ वाली जॉयकोव डी वैक्सीन लगेगी। 

यह वैक्सीन जायडस कैडिला फार्मा कंपनी द्वारा बनायीं गयी है

कानपुर समेत यूपी के 14 जिलों में यह वैक्सीन लगेगी।

इसे एक डिस्पोजेबल जेट एप्लीकेटर या फार्मा जेट इंजेक्टर की मदद से लगाया जाएगा।

यूपी में जॉयकोव डी वैक्सीन की कुल 33. 20 लाख डोज़ अलॉट की गयी हैं।

नए साल के आने पर कानपुरवासियों के लिए एक अच्छी खबर है। शहर में अब तक कोविशील्ड, कोवैक्सीन और प्राइवेट अस्पताल में स्पुतनिक वैक्सीन की डोज़ लग रही थी, लेकिन नए साल में कानपूर के लोगों को नयी वैक्सीन लगवाने का मौका मिलेगा। तीन डोज़ वाली जॉयकोव डी भी शहर वासियों को मिलने लगेगी। इस नयी वैक्सीन की विशेषता यह है की यह पेनलेस तकनीक से लगेगी यानी इसमें इंजेक्शन जैसा कोई दर्द नहीं होगा। कानपुर को इसक वैक्सीन की कुल 4 लॉख डोज़ अलॉट की गयी हैं। कानपुर समेत यूपी के 14 जिलों में यह वैक्सीन लगेगी।

फार्मा जेट इंजेक्टर से लगाया जाएगा टीका

यूपी में जॉयकोव डी वैक्सीन की कुल 33. 20 लाख डोज़ अलॉट की गयी हैं। इसे लगाने के लिए कुल 660 फार्माजेट लिए गए हैं। एडिशनल डायरेक्टर हेल्थ के अनुसार वैक्सीन नयी है और इसे लगाने की तकनीक अलग है जिसके लिए वैक्सीनेटर्स की ट्रेनिंग कराई जायेगी और इसके लिए डब्ल्यूएचओ के अधिकारी शेड्यूल तैयार कर रहे हैं। वैक्सीनेशन स्टाफ की ट्रेनिंग भी वही कराएँगे। इस वैक्सीन का ट्रायल अभी 12 से 18 साल के लोगों पर चल रहा है और 18 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए इस वैक्सीन को लगाने की परमिशन मिल चुकी है।

जॉयकोव डी की विशेषताएं

यह वैक्सीन जायडस कैडिला फार्मा कंपनी द्वारा बनायीं गयी है और यह एक डीएनए प्लाज़्मिड बेस्ड है। जायकोव-डी वैक्सीन की खास बात यह है कि इसे सुई से नहीं लगाई जाएगी। इसे एक डिस्पोजेबल जेट एप्लीकेटर या फार्मा जेट इंजेक्टर की मदद से लगाया जाएगा। इसे लगाते वक्त दर्द महसूस नहीं होगा। इस वैक्सीन की तीन खुराक लोगों को लेनी होगी। तीनों खुराकों को 28 दिन के अंतराल पर लेना है।

 

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *