जरूरी बातें

यूपीएसआरटीसी जल्द उत्तर प्रदेश के 17 बस स्टेशनों को विकसित करेगा।

लखनऊ में चारबाग, अमौसी और विभूति खंड बस स्टेशन इस सूची में शामिल हैं।

गाजियाबाद, गोरखपुर, मथुरा, प्रयागराज, मेरठ, वाराणसी, आगरा और अलीगढ़ में बस स्टेशनों को विकसित किया जाएगा। 

इस परियोजना के लिए 2,174 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है।

यूपीएसआरटीसी का लक्ष्य इस परियोजना को मार्च 2024 तक समाप्त करना है।

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपीएसआरटीसी) राज्य में सार्वजनिक परिवहन के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए जल्द ही उत्तर प्रदेश के 17 बस स्टेशनों को विकसित करेगा। विशेष रूप से, लखनऊ में चारबाग, अमौसी और विभूति खंड बस स्टेशन और कानपुर सेंट्रल बस स्टेशन इस सूची में शामिल हैं। इस परियोजना में, गाजियाबाद, लखनऊ में चारबाग, अमौसी और विभूति खंड बस स्टेशन और कानपुर सेंट्रल बस स्टेशन इस सूची में शामिल हैं। इस परियोजना में, गाजियाबाद, गोरखपुर, मथुरा, प्रयागराज, मेरठ, वाराणसी, आगरा और अलीगढ़ में बस स्टेशनों को भी यूपीएसआरटीसी द्वारा विकसित किया जाएगा।

बस स्टैंड को यूपी में कमर्शियल कॉम्प्लेक्स की तरह विकसित किया जाएगा

यूपीएसआरटीसी द्वारा इस विकास परियोजना के लिए लखनऊ , गाजियाबाद और आगरा में तीन-तीन, प्रयागराज में दो और आगरा, कानपुर, वाराणसी, मेरठ, गोरखपुर और मथुरा में एक-एक बस स्टेशनों को अंतिम रूप दिया गया है। विशेष रूप से, अकेले चारबाग बस स्टेशन के विकास पर लगभग 47 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे और पौने सात हजार वर्ग फ़ीट में दो मंजिला इमारत तैयार होगी। निचे बसों का संचालन और यात्रियों के खानपान की सुविधा भी होगी। ऊपर के तल पर कमर्शियल गतिविधियों के लिए दुकानें खुलेंगी। परिवहन निगम ने इसके लिए टेंडर जारी कर दिया है।

यूपीएसआरटीसी द्वारा पास किये गए टेंडर के अनुसार, इन बस स्टेशनों को पब्लिक- प्राइवेट पार्टनरशिप मॉडल के तहत कमर्शियल परिसरों में विकसित किया जाएगा। इन परिसरों में दुकानों के अलावा बसों के संचालन और यात्रियों के खानपान की अतिरिक्त सुविधाएं भी शामिल होंगी। जबकि प्रशासन द्वारा पास किये गए टेंडर के लिए निमंत्रण भेजा गया है, बोली 28 जनवरी, 2022 को खुलने वाली है। कथित तौर पर, 2,174 करोड़ रुपये के आवंटित बजट के साथ, उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपीएसआरटीसी) का लक्ष्य इस परियोजना को मार्च 2024 तक समाप्त करना है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *