Pictorial Representation

मुख्य बिंदु

लखनऊ में 4 जगहों पर बनेगा स्काई वॉक जिसमें से 4 में से 3 स्थानों को चिन्हित कर लिया गया है।
इनमें स्वास्थ्य भवन चौराहा, डालीगंज चौराहा, मनकामेश्वर मंदिर चौराहा और ट्रांसगोमती में दो स्थानों पर सर्वे चल रहा है दयाल पैराडाइज चौराहा या फिर अलीगंज कपूरथला चौराहे में से किसी को एक चुना जाएगा।
इस परियोजना का काम 24 करोड़ रुपये से किया जाएगा।
यह स्काई वॉक सड़क की सतह से 5.5 मीटर यानी लगभग 18 फुट ऊपर फ्लाईओवर होगा।
प्रदेश के सभी 17 स्मार्ट सिटी शहरों की निगरानी के लिए निदेशक स्थानीय निकाय निदेशालय में बनाया गया सेंट्रल कमांड कंट्रोल सेंटर शुरू हो चूका है। इसके निर्माण पर 23.78 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं।

Pictorial Representation

आने वाले दिनों में लखनऊ वासियों को शहर में खरीदारी करने और घूमने फिरने का एक नया अनुभव मिलेगा। लखनऊ में स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत शहर के 4 चौराहों पर स्काई वॉक का निर्माण किया जाएगा। स्काई वॉक के लिए 4 में से 3 जगहों को चिन्हित भी कर लिया गया है। यह सभी स्काई वॉक फ्लाईओवर की तरह होंगे जहां लोग आराम से टहलते हुए फुटपाथ यानी पटरी दुकानदारों से खरीदारी कर सकेंगे। इस स्काई वॉक से लोगों को सड़क जाम, ट्रैफिक जैसी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा और लोग आसानी से बिना किसी परेशानी के खरीदारी कर सकेंगे साथ ही दुकानदार आराम से अपना सामान बेच सकेंगे।

कमिश्नर रंजन कुमार के अनुसार स्काई वॉक के लिए 4 में 3 स्थानों को चिन्हित कर लिया गया है। इनमें स्वास्थ्य भवन चौराहा, डालीगंज चौराहा, मनकामेश्वर मंदिर चौराहा और ट्रांसगोमती में दो स्थानों पर सर्वे चल रहा है दयाल पैराडाइज चौराहा या फिर अलीगंज कपूरथला चौराहे में से किसी को एक चुना जाएगा। यह स्काई वॉक सड़क की सतह से 5.5 मीटर यानी लगभग 18 फुट ऊपर फ्लाईओवर होगा। इस पर लोग आराम से बिना किसी परेशानी घूम सकेंगे और खरीदारी कर सकेंगे। इसके साथ ही यहां बैठने के लिए आरमदायक बेंच भी लगेंगी। इस पूरी परियोजना की लागत 24 करोड़ रुपये होगी।

प्रदेश की 17 स्मार्ट सिटी का सेंट्रल कमांड कंट्रोल सेंटर राजधानी में शुरू

प्रदेश के सभी 17 स्मार्ट सिटी शहरों की निगरानी के लिए निदेशक स्थानीय निकाय निदेशालय में बनाया गया सेंट्रल कमांड कंट्रोल सेंटर शुरू हो चूका है। इसके निर्माण पर 23.78 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। इस कमांड सेंटर से प्रदेश की 17 स्मार्ट सिटी को जोड़ा जाएगा और यहीं से इन शहरों पर निगरानी रखी जायेग। जिसमें ट्रैफिक मैनेजमेंट, परिवहन, एयर क्वालिटी और नगरीय सुविधाएं शामिल हैं। इस नए कमांड सेंटर से वो 7 शहर जुड़ा जाएंगे जिनको प्रदेश सरकार ने स्मार्ट सिटी बनाया है। इनमें गोरखपुर, अयोध्या, शाहजहांपुर, मेरठ, फिरोजाबाद, मथुरा और गाजियाबाद है। लखनऊ सहित शहर केंद्र सरकार ने घोषित किये थे, उनमें वहां पर ही कमांड कंट्रोल सेंटर बनाए गए हैं और उनको कंट्रोल कमांड से लिंक किया गया है। प्रदेश में जो कमांड कंट्रोल सेंटर बनाए गए हैं, उमके जरिये कोविड महामारी में हॉस्पिटल मैनेजमेंट, हॉटस्पॉट की निगरानी और हैलो डॉक्टर की सेवा दी गई थी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *