लखनऊ के सबसे बड़े आकर्षणों में से एक, शहर के चिड़ियाघर में अब लोग दुनिया की सबसे जहरीली मछली स्टोन फिश को ज़ू के फिश हाउस में देख सकेंगे। जलीय जीवों और मरीन एक्वेरियम की मछलियों के साथ-साथ अब पर्यटकों को स्टोन फिश भी देखने को मिल जाएंगी। स्टोन फिश नामक दुनिया की सबसे ज़हरीली मछली को कन्याकुमारी से इम्पोर्ट किया गया है। लखनऊ ज़ू के डायरेक्टर आर के सिंह का कहना है की यह मछली जो की एक पत्थर जैसी दिखती है, किसी को आघात करे तो उसे एंटीवेनम देना पड़ता है।

काफी जहरीली होती है स्टोन फिश

मछली विशेषज्ञ इंद्रमणि राजा ने बताया कि यह मछली हिंद महासागर के उथले और चट्टानी इलाकों में पाई जाती है। तुम पत्थर और इस मछली में फर्क नहीं कर पाओगे। अधिकतम 45 सेंटीमीटर लंबी इस मछली को जहरीली मछलियों की सूची में रखा गया है। स्टोन फिश खाने में जिंदा मछली पसंद करती है। इसके अलावा चिड़ियाघर में दो समुद्री एक्वैरियम में लायन मछली, और जलीय जीवन के कई प्राणी भी है जैसे एनीमोन, पीली पूंछ वाली दुर्लभ प्रजाति की डैम्सेल मछली।

स्टोनफिश एक ऐसी मछली है जिसने अपनी रीढ़ की हड्डी काँटे की तरह विकसित कर ली है और 2018 में ऑस्ट्रेलिया में हुए शोध से पता चला है कि यह मछली अपनी दुश्मन मछली और इंसानों को जहर देने के लिए रीढ़ की हड्डी को रक्षात्मक तरीके के रूप में इस्तेमाल करती है। जिसका जहर सांप की तरह जानलेवा होता है और बिना जहर के उससे बचना मुश्किल होता है। फिश हाउस में करीब 65 प्रजातियों की करीब 2200 मछलियां हैं। एक्वेरियम में कुछ जापानी कार्प और भारतीय रंगीन कार्प भी लाए गए हैं। स्कूली बच्चों, मछुआरों और शोधकर्ताओं के लिए यहां मछलियों का ऐसा कोई संग्रह नहीं है।’

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *