मुख्य बिंदु

लखनऊ नगर निगम ने हर घर से कूड़ा उठान के लिए 110 सीएनजी गाड़ियों की व्यवस्था की।
शहर के 8 जोन में सभी 110 वार्डों को एक-एक गाड़ी दी गई है।
लखनऊ में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन व्यवस्था को सुधारने के लिए नगर निगम अब सभी घरों की जियो टैगिंग करवाएगा।
जियो टैगिंग की सुविधा शुरू होने के बाद कूड़ा गाड़ी को प्रत्येक घर के सामने 30 से 90 सेकंड तक रुकना होगा।

लखनऊ में नगर निगम ने शहर से कूड़ा उठाने के लिए 110 सीएनजी गाड़ियों की व्यवस्था की है और नगर निगम के सफाईकर्मियों ने अब इन गाड़ियों का उपयोग शुरू कर दिया है। शहर के 8 जोन में सभी 110 वार्डों को एक-एक गाड़ी दी गई है। इन सभी सीएनजी गाड़ियों से प्रदुषण कम होने के साथ नगर निगम का डीजल-पेट्रोल खर्च भी कम होगा।

इन छोटी गाड़ियों के आने से कूड़ा उठान तेज होगा, जिससे छोटे-छोटे डंपिंग पॉइंट भी समाप्त किये जा सकेंगे। इस प्रयास से नगर निगम की गार्बेज फ्री स्टार रेटिंग (Garbage Free Rating) में भी सुधार आएगा। इस साल नगर निगम की थ्री स्टार रेटिंग आई है, जिसे 5 स्टार तक करने का प्रयास जारी है। नगर आयुक्त अजय दिवेदी ने बताया कि एक किलो सीएनजी में एक गाड़ी करीब 28 किलोमीटर चलेगी और सात से आठ कुंटल कूड़ा उठाएगी।

लखनऊ की स्वच्छ सर्वेक्षण में रैंकिंग सुधारने के लिए की जा रही सख्ती

लखनऊ में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन व्यवस्था को सुधारने के लिए नगर निगम अब सभी घरों की जियो टैगिंग करवाएगा। इससे यह पता चल सकेगा कि किस घर से कूड़ा उठा है और कहां से नहीं। नगर निगम के अधिकारीयों का मानना है कि ऐसा करने से कूड़ा कलेक्शन में होने वाले फर्जीवाड़े पर लगाम लगाई जा सकेगी।

नगर निगम के अधिकारीयों के अनुसार कूड़ा उठाने वाली गाड़ी को प्रत्येक घर से कूड़ा उठाने में 1 मिनट लगता है। जियो टैगिंग की सुविधा शुरू होने के बाद कूड़ा गाड़ी को प्रत्येक घर के सामने 30 से 90 सेकंड तक रुकना होगा। अगर कहीं गाड़ी नहीं रूकती है तो नगर निगम के कंट्रोल रूम पर रेड सिग्नल और कूड़ा उठ जाने पर ग्रीन सिग्नल दिखेगा।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत शहर की सफाई की परीक्षा इस बार 6000 की जगह 7500 अंक की होगी। 2021 का स्वच्छ सर्वेक्षण में लखनऊ को देश में 12वीं रैंक मिली है। नगर निगम ने इस बार वॉटर प्लस में भी आवेदन की तैयारी में हैं। मेयर संयुक्ता भाटिया के अनुसार शहर की रैंकिंग को और बेहतर करने का प्रयास किया जा रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *