लखनऊ में शुक्रवार को जीका वायरस के पहले मामले सामने आने के बाद प्रशासन ने इस बीमारी को फैलने से रोकने का काम शुरू कर दिया है। वायरस से निपटने के लिए कंटेनमेंट ज़ोन बनाने, घर-घर निगरानी और जागरूकता अभियान चलाने जैसे उपाय लागू किए जा रहे हैं।

मरीजों के घरों के आसपास 400 मीटर के कंटेनमेंट जोन बनाए जाएंगे

संक्रमित लोगों के शहर में आने पर नज़र रखने के लिए एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस स्टॉप पर प्रभारी नियुक्त किए गए हैं। वे जीका प्रभावित क्षेत्रों से यात्रा करने वाले यात्रियों की एक सूची बनाए रखेंगे।

निगरानी के लिए सक्रिय मॉनीटरिंग टीम

अब तक कुल 550 सुपर सर्विलांस टीमों का गठन किया जा चुका है। प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) पर 25 टीमें मौजूद रहेंगी। वे डोर-टू-डोर सर्वेक्षण करने और रोगियों की निगरानी के लिए जिम्मेदार होंगे। स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे के संदर्भ में, जिले के 8 अस्पतालों में विशेष जीका वायरस वार्ड बनाए जा रहे हैं।

जागरूकता अभियान और हेल्पलाइन शुरू

जानकारी के वितरण के लिए होर्डिंग्स और पैम्फलेट के साथ बीमारी के बारे में जागरूकता अभियान भी शुरू किया जाएगा। इसके अतिरिक्त, जीका वायरस से संबंधित सभी प्रश्नों के लिए एक हेल्पलाइन जारी की गई है। लोग इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर (आईसीसीसी) पर कॉल करके अपनी जरूरत की कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *