मुख्य बिंदु

रेलवे से सफर करने वाले यात्रियों को अब खुद खरीदना होगा बेडरोल।
यात्री 50 से 250 रुपये तक के डिस्पोजेबल बेडरोल अपनी इच्छा अनुसार खरीद सकते हैं।
लखनऊ जंक्शन रेलवे स्टेशन पर डिस्पोजेबल बेडरोल की बिक्री भी शुरू कर दी गई है।
इससे पहले यात्रियों को टिकट के साथ लिनेन की सुविधा मुफ्त मिलती थी।
रेलवे ने पिछले साल मार्च के महीने में कोरोना संक्रमण के कारण बेडरोल की सुविधा पर रोक लगा दी थी।

लखनऊ रेलवे मंडल ने पिछले साल 2020 में मार्च के महीने में ही कोरोना काल के दौरान कोरोना संक्रमण से यात्रियों को सुरक्षित रखने के लिए ट्रेनों में बेडरोल पर रोक लगा दी थी। जिसके कारण यात्रियों को अपनी बेडशीट और कंबल लेना जाना पड़ता था। लेकिन अब लखनऊ मंडल प्रशासन यात्रियों को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए बेडरोल की सुविधा को नए तरीके से शुरू करने के लिए नई शुरुआत की है। यात्रियों को अब डिस्पोजेबल बेडरोल खरीदना होगा और सफर के बाद अपने घर भी ले जा सकेंगे। रेलवे अपनी तरफ से कोई भी बेडरोल नहीं देगा। रेलवे ने डिस्पोजेबल बेडरोल की बिक्री भी शुरू कर दी है। इससे पहले तक बेडरोल की सुविधा टिकट के साथ ही मिलती थी, यात्रियों को इसके लिए अलग से नहीं करना होता था।

डिस्पोजेबल बेडरोल की कीमत 50 रुपये से 250 रूपये तक है

50 रूपये में एक बेडशीट, फेस मास्क, ग्लव्स और सैनिटाइजर का पाउच मिलेगा। 100 रुपये में बेडशीट तकिया कवर, फेस मास्क, ग्लव्स, हेडकैप, सैनिटाइजर मिलेगा। 200 रूपये में इनके साथ एक कंबल भी दिया जाएगा। वहीं 200 रूपये में इन सभी वस्तुओं के साथ एक फेसशील्ड भी मिलेगी। यात्रियों को अगर सफर के दौरान बेडरोल की सुविधा चाहिए तो उन्हें इसके लिए कीमत चुकानी होगी। रेलवे अपनी तरफ से बेडरोल नहीं देगा।

अभी एसी क्लास में सफर करने वाले यात्रियों को अपना खुद का कंबल, चादर या फिर बेडरोल लेकर चलना पड़ रहा है, जिसके कारण यात्रियों का सामान अधिक हो जाता है। इसी के चलते रेलवे को शिकायत मिली थी कि कुछ अवैध वेंडर्स इस्तेमाल किये हुए खराब कंबल बेडरोल बेचना शुरू कर दिया था। पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ की डीआरएम, डॉ. मोनिका अग्निहोत्री ने बताया कि डिस्पोजेबल बेडरोल की सुविधा एक वैकल्पिक व्यवस्था है। यह सुविधा एक निजी संस्था के साथ मिलकर रेलवे ने यात्रियों को बेडरोल देने की सुविधा शुरू की है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *