जरुरी बातें

लखनऊ के बस अड्डों और चारबाग़ रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की होगी फोकस स्क्रीनिंग।
शरीर का तापमान अधिक निकलने पर तुरंत करवाई जाएगी आरटीपीसीआर (RT-PCR) जांच।
बाहर से आने वाले यात्रियों की बीते 15 दिनों की ट्रेवल हिस्ट्री दर्ज की जायेगी।
नियमों का कड़ाई से पालन करवाने के लिए 12 टीमें गठित की गई हैं।

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) को ध्यान में रखते हुए लखनऊ के बस अड्डों और चारबाग़ रेलवे स्टेशन पर अब और अधिक सख्ती बरती जाएगी। डीएम अभिषेक प्रकाश द्वारा किये गए निरिक्षण के बाद इन जगहों पर सख़्ती करने के आदेश दिए गए हैं। आदेश के अनुसार प्रत्येक यात्री की फोकस स्क्रीनिंग की जायेगी और अगर किसी यात्री के शरीर का तापमान तय मानक से अधिक निकलता है तो तुरंत उसकी आरटीपीसीआर (RT-PCR) जांच की जाएगी। इसी के तहत लखनऊ में बाहर से आने वाले यात्रियों की बीते 15 दिनों की ट्रेवल हिस्ट्री भी दर्ज करी जायेगी।

12 टीमों का किया गया गठन

स्टेशन पर नियमों का कड़ाई से पालन कराने के लिए 12 टीमें गठित की गयीं हैं। यह टीमें यह ध्यान में रखेंगी की स्टेशन पर नियमित सैनिटाइजेशन, फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन, यात्रियों की स्क्रीनिंग और टेस्टिंग करी जाए। डीएम अभिषेक प्रकाश ने बीते गुरुवार को दो बार चारबाग़ रेलवे स्टेशन का निरिक्षण किया जिसके तहत उन्होंने यह निर्देश दिए थे।

बता दें की फोकस स्क्रीनिंग के अंतर्गत यात्री के शरीर का तापमान जांचा जायेगा और यदि शरीर का तापमान ज्यादा निकलता है तो तुरंत उसकी आरटीपीसीआर (RT-PCR) जांच कराई जाएगी ताकि ये पता लगाया जा सके की यात्री कोरोना पॉजिटिव है या नहीं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *