मुख्य बिंदु

लखनऊ में बीते रविवार को कोरोना के 5 नए मरीज मिले।
इसमें दिल्ली से लखनऊ लौटे एक ही परिवार के 3 लोग शामिल है, जबकि चौथा मरीज कुछ दिन पहले दूसरे जयपुर से वापस लौटा था।
लखनऊ में एक्टिव केसों की संख्या 23 पर पहुंची।
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में दूसरे राज्य से आने वाले अधिकतर मरीज कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं।
अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री भी देखी जाएगी

लखनऊ में बीते रविवार को अलग अलग इलाकों से कोरोना के 5 नए मरीज मिले। इसमें एक ही परिवार के 3 लोग शामिल है, जबकि चौथा मरीज कुछ दिन पहले दूसरे राज्य से वापस लौटा था। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का कहना है सभी मरीज होम आइसोलेशन में हैं और कोविड कमांड सेंटर से सभी मरीजों का हाल चाल लिया जा रहा है। वहीं, कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों का आकंड़ा शून्य रहा और एक्टिव केस की तादाद बढ़कर 23 पहुंच गई हैं जिसको लेकर लेकर स्वास्थ्य विभाग में खलबली मची हुई है।

कोविड कमांड सेंटर से सभी मरीजों का लिया जा रहा हाल चाल

जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. मिलिंद वर्धन के मुताबिक, गौतमपल्ली इलाके के रहने वाले एक ही परिवार के 3 लोग पॉजिटिव आए हैं और परिवार के सभी लोग करीब हफ्ते भर पहले दिल्ली से वापस लौटे थे। उनमें से एक की तबियत बिगड़ी और परिजनों ने कमांड सेंटर पर कॉल किया, जिसके बाद टीम ने घर जाकर जांच की तो कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग के तहत करीब 37 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं, वहीं इंदिरानगर का एक अन्य मरीज पॉजिटिव आया है।

जयपुर से लौटे व्यक्ति की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

डॉ.मिलिंद के मुताबिक चौथा मरीज विभूतिखंड स्थित ओमैक्स हाइट का रहने वाला है और वह करीब हफ्ते भर पहले जयपुर से वापस लौटा था। उसे बुखार आने पर डॉक्टर की सलाह पर जांच कराई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। टीम ने मौके पर पहुंच कर ट्रेवल हिस्ट्री समेत कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग का काम किया है। करीब 40 लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। पॉजिटिव आए मरीज का नमूना जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा गया है।

अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री भी देखी जाएगी

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में दूसरे राज्य से आने वाले अधिकतर मरीज कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने सरकारी अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री लेने के निर्देश दिए हैं, ताकि मरीज़ों के संपर्क में आए लोगों की समय रहते जांच कराई जा सके। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद 8वें दिन उन मरीजों की दोबारा जांच स्वास्थ्य विभाग करेगा।

लखनऊ में पॉजिटिव आने वाले करीब 80 फीसदी मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री सामने आ रही है। दूसरे राज्य से इलाज के लिए आने वाले मरीज या यात्री ही पॉजिटिव निकल रहे हैं और पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आने वाले अधिकतर लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। इसे देखते हुए अस्पतालों में मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री की जांच और ब्यौरा लेने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग ने दिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *