Graphical Representation

मुख्य बिंदु

तालकटोरा – ऐशबाग में बनेंगी बहुमंजिला इमारतें।
40 साल बाद औद्योगिक भूखंडो को आवासीय में बदलने की शासन ने मंजूरी दी।
कुछ शर्तों के साथ शासन ने यहां भूखंड संख्या 148 ए को आवासीय में बदलने की मंजूरी दी है।
करीब 100 से अधिक औद्योगिक भूखंड है दोनों औद्योगिक इलाकों में।

लखनऊ को स्मार्ट सिटी बनाने में जिला प्रशासन कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता है इसी के चलते अब शासन ने औद्योगिक भूखंडो को आवासीय में बदलने की मंजूरी दे दी है। इसी के तहत अब तालकटोरा और ऐशबाग में बहुमंजिला इमारतें बनेगी। आने वाले दिनों में तालकटोरा और ऐशबाग इंडस्ट्रियल एरिया के औद्योगिक भूखंडो पर बहुमंजिला इमारतें खड़ी होंगी। शासन ने कुछ शर्तों के साथ भूखंड संख्या 148 ए को आवासीय में बदलने की यह यह मंजूरी दी है। इसी तर्ज पर अब अन्य भूखंडो का भी भू उपयोग बदला जा सकेगा। बता दें की ऐशबाग और तालकटोरा इंडस्ट्रियल एरिया में 100 से अधिक औद्योगिक भूखंड हैं।

Graphical Representation

तालकटोरा ऐशबाग इंडस्ट्रियल एरिया पूरी तरह से आवासीय इलाकों में आ चूका है। आवासीय कॉलोनी के बीच में आने की वजह से यहां के तमाम उद्योग बंद हो चुके हैं, लेकिन उनके भूखंड खाली पड़े हुए हैं। कुछ उद्यमियों ने तो यहां गोदाम और अन्य काम शुरू कर दिया है क्यूंकि फैक्ट्री चलाने से प्रदुषण हो रहा था। औद्योगिक भूखंडो के स्वामी इनको आवासीय में तब्दील करने की लंबे समय से मांग कर रहे थे लेकिन मंजूरी नहीं मिल पा रही थी, अब करीब 40 साल बाद यह मंजूरी मिल गई है और इसी तर्ज पर यहां अन्य विकास कार्य किये जाएंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *