लखनऊ में किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज के रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग के 75वें स्थापना दिवस के तहत मंगलवार को यहां लंग कैंसर क्लीनिक की शुरुआत की गई। यह क्लीनिक यह प्रत्येक गुरुवार को दोपहरे एक से तीन बजे तक चलेगा। इसके शुरू होने से फेफड़े के कैंसर से जूझ रहे मरीजों को राहत मिलेगी।

पूरे देश में एक लाख लोग लंग कैंसर से जूझ रहे हैं

रेस्पिरेटरी मेडिसिन के विभागाध्यक्ष व इंडियन सोसाइटी फार स्टडी ऑफ लंग कैंसर की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य डा. सूर्यकान्त त्रिपाठी ने बताया कि लंग कैंसर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। देश में लगभग एक लाख लोग फेफड़े के कैंसर से जूझ रहे हैं, इनमें पुरुष लगभग 70 हजार व 30 हजार महिलाएं हैं। लगातार खांसी व उसके साथ खून आना, सांस फूलना, सीने में दर्द, वजन कम होना और बार बार फेफड़े में संक्रमण होना इसके लक्षण हो सकते हैं। फेफड़ों के कैंसर का उपचार सर्जरी, कीमोथेरेपी, रेडियोथेरिपी व इम्यूनोथेरेपी से किया जाता है। 90 फीसद रोगी बीमारी की अंतिम अवस्था में चिकित्सकों के पास पहुंचते हैं, जिससे इलाज में मुश्किल होती है।

लंग क्लीनिक में पहले से आनलाइन पंजीकरण के लिए 0522-2258880 पर कॉल करके या www.ors.gov.in पर जाकर रेजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *