जरूरी बातें

लखनऊ विश्वविद्यालय में महिला पीएचडी शोधार्थियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए ‘शोध मेधा’ छात्रवृत्ति कार्यक्रम शुरुआत कर रहा है।
इस छात्रवृत्ति के लिए सिर्फ 150 आवेदन ही लिए जायेंगे।
सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ फॉर्म जमा करने की अंतिम तिथि 22 दिसंबर 2021 है।
विश्वविद्यालय की वेबसाइट या डीन स्टूडेंट वेलफेयर (Dean Students Welfare) के कार्यालय से छात्राएं आवेदन फार्म प्राप्त कर सकतीं हैं

लखनऊ विश्वविद्यालय में महिला पीएचडी शोधार्थियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए ‘शोध मेधा’ छात्रवृत्ति कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा की है। रिपोर्ट के अनुसार, इस छात्रवृत्ति कार्यक्रम को विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण कोष (Student Welfare Fund) द्वारा समर्थन दिया जा रहा है। इस छात्रवृत्ति के लिए 150 आवेदन ही लिए जायेंगे। विशेष रूप से, लखनऊ विश्वविद्यालय पहले से ही छात्रों को आर्थिक सहायता देने के लिए दो अन्य कार्यक्रम, ‘छात्र कल्याण छात्रवृत्ति’ और ‘कर्मयोगी योजना’ चला रहा है।

छात्रवृत्ति कार्यक्रम से महिला छात्रों को किया जायेगा प्रोत्साहित

लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति आलोक कुमार राय द्वारा शुरू की गई इस पहल, ‘शोध मेधा’ का उद्देश्य अधिक से अधिक महिलाओं को पीएचडी कार्यक्रम के अंतर्गत अध्यन को प्रोत्साहित करना है। इस छात्रवृत्ति से विश्वविद्यालय के प्रत्येक लाभार्थी को अधिकतम 3 वर्षों के लिए 5000 रुपये की मासिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस छात्रवृत्ति के द्वारा महिलाओं को शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में अपने करियर को बनाने में मदद मिलेगी।

आवेदन करने के लिए इन मानदंडों का करना होगा पालन

आवेदक को अपने टर्म असेसमेंट में न्यूनतम 60% के साथ उत्तीर्ण होना होगा।
आवेदक के माता-पिता या अभिभावकों की कुल आय 3 लाख रुपये प्रति वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।

इस छात्रवृत्ति के लिए योग्य छात्राएं विश्वविद्यालय की वेबसाइट से फॉर्म डाउनलोड कर सकतीं हैं या डीन स्टूडेंट वेलफेयर (Dean Students Welfare) के कार्यालय में संबंधित प्रमुख, निदेशक, या संकाय के संबंधित डीन के माध्यम से जमा कर सकतीं हैं। सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ फॉर्म जमा करने की अंतिम तिथि 22 दिसंबर 2021 है।

रिपोर्ट के अनुसार, छात्र कल्याण समिति को अभी तक ‘शोध मेधा’ छात्रवृत्ति के लिए 144 आवेदन प्राप्त हुए हैं। डीन ऑफ स्टूडेंट वेलफेयर प्रोफेसर पूनम टंडन के मार्गदर्शन में टीम फिलहाल आवेदन फॉर्मों की जांच कर रही है और जल्द ही लाभार्थियों की सूची जारी की जाएगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *