कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए उत्तर प्रदेश अपने संसाधनों के दायरे को बढ़ा रहा है और राज्य सरकार टीकाकरण के दायरे को बढ़ाने के लिए भरसक प्रयास कर रही है। नवीनतम घटनाओं के अनुसार प्रशासन ने अधिकारियों को आदेश दिया है की वे टीचरों और राज्य सरकार के अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए टीकाकरण के बूथ लगवाएं। कथित तौर, पर इन केंद्रों की निगरानी जिला और तहसील स्तर पर प्रखंड विकास कार्यालय द्वारा की जाएगी।

यूपी के सभी जिलों में 18-45 के बीच के नागरिकों के लिए टीकाकरण जल्द शुरू होगा


रिपोर्ट के अनुसार बेसिक शिक्षा मंत्री व जिला विद्यालय निरीक्षक के कार्यालयों को केंद्र बिन्दु बनाकर शिक्षकों के टीकाकरण कार्यक्रम को कराया जाएगा। इसके अलावा, सीएम ने कहा है कि राज्य के सभी जिलों में 1 जून से सभी 18 से अधिक उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण खोला जाएगा।

हाल ही में किये गए देश भर के विश्लेषण में पता चला है की 18-45 उम्र के सबसे अधिक लोगों का टीकाकरण करवाने वाले राज्यों की सूची में उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर है। जब देश में 18-45 उम्र के लोगों का टीकाकरण शुरू हुआ तब सबसे अधिक वैक्सीन की खुराकों का आर्डर यूपी ने ही दिया था। हालाँकि इस आर्डर का कुछ भाग यूपी आ चूका है और यह उम्मीद है की निर्माता जल्द ही बाकी स्टॉक भी डिलीवर कर देंगे।

राज्य भर में नागरिकों को दी गई 1.65 करोड़ से अधिक खुराक


यूपी में सोमवार को 3,894 नए मामले आये और 11,918 लोग रिकवर हो गए। हालांकि, राज्य में 16,73,785 कोरोना मामले दर्ज किये जा चुके हैं और इनमें से 76,703 सक्रीय मरीज़ों की तादात में आते हैं। इसके अलावा, अब तक विभिन्न आयु वर्ग के लोगों को कुल 1,65,42,234 टीके की खुराक दी जा चुकी है।