आगामी त्योहारों और पंचायत चुनावों को मद्देनज़र, संक्रमण की स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए लखनऊ में धारा 144 के तहत प्रतिबंधों को 5 अगस्त तक बढ़ा दिया गया है। प्रतिबंध पहले 5 जुलाई तक लागू थे, लेकिन संक्रमण में प्रसार को रोकने के उद्देश्य से समय सीमा बढ़ा दी गई है। नवीनतम विकास के अनुसार, इस अंतराल के दौरान सार्वजनिक और सामुदायिक स्थानों पर 5 से अधिक लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी।

शादी समारोहों और धार्मिक स्थलों पर सिर्फ 50 लोगों को जाने की इज़ाज़त मिलेगी




संयुक्त पुलिस आयुक्त ने मंगलवार को प्रतिबंधों की अवधि बढ़ाने की घोषणा की। धारा 144 के प्रावधानों के तहत, 5 अगस्त तक सभी प्रकार के विरोध प्रदर्शन, रैलियां और प्रदर्शन प्रतिबंधित हैं। रिपोर्ट के अनुसार, धार्मिक स्थलों पर रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर बजाने की अनुमति नहीं होगी।

इसके अतिरिक्त, केवल 50 लोगों को शादी के कार्यक्रमों और धार्मिक केंद्रों पर जाने की अनुमति होगी। इसके अलावा, सभी आवश्यक कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना ज़रूरी है, जिसमें मास्क लगाना और सामाजिक दूरी बनाए रखना शामिल है।

कोविड-उपयुक्त व्यवहार है आवश्यक

हालांकि पिछले कुछ हफ्तों में मामलों की संख्या में काफी गिरावट आई है, लेकिन अगर तीसरी लहर को रोकना है तो कोविड-उपयुक्त व्यवहार बनाए रखना आवश्यक है। जहां अधिकारियों द्वारा इसे रोकने के लिए पर्याप्त उपाय किए जा रहे, वहीं नागरिकों का सहयोग भी एक महत्वपूर्ण है।

लखनऊ में मंगलवार को 15 मामले सामने आए और 13 लोग ठीक हुए। वर्तमान में, शहर में 167 सक्रिय रोगी हैं, जबकि उत्तर प्रदेश में कुल 2,032 सक्रिय मामले हैं। अब तक, 2,38,393 व्यक्ति घातक वायरस से प्रभावित हुए हैं, और शहर में कुल 2,651 मौतें हुई हैं।