लखनऊ में इंदिरा नगर के विभिन्न क्षेत्रों में पिछले 6-12 महीनों में सड़कों पर किचन गैस पाइपलाइनों के लेआउट के लिए गड्ढों और सुरंगों की खुदाई की गई। प्रक्रिया में खोदी गई ज़मीन को ठीक से बहाल न करने के कारण इस जगह के निवासियों को समस्यायों का सामना करना पड़ रहा है। कई जगहों पर यह गड्ढे लंबे समय से परेशानी का सबब बने हुए हैं और अब मानसून ने मुश्किलें और भी बढ़ा दी हैं

सड़कों की ठीक से मरम्मत न होने के कारण पैदल चलने वालों को हो रही है दिक्कत

पाइप लाइन सुरंग खोदने के दौरान सड़कों की मरम्मत का कार्य ठीक से नहीं किया गया। नजीततन कई घरों के बाहर गड्ढे बन गए हैं और नागरिकों को परेशानी हो रही है। इसके अतिरिक्त, टाइल भी कुशलता से नहीं बिछाए थे, जिसके कारण वह जमीन में धंस रहे हैं और साथ ही लोगों की मुसीबतों को बढ़ा रहे हैं। यदि अधिक समय तक बारिश होती है, तो गड्ढों में पानी जमा हो जाता है और यह पैदल चलने वालों के लिए खतरनाक हो सकता है।


बरसात के मौसम में परेशानियों से बचने और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए बेहतर सड़कों की आवश्यकता है, और इंदिरा नगर के कुछ क्षेत्रों में फुटपाथों और सड़कों की वर्तमान स्थिति को देखते हुए बेहतर सड़कें और भी ज़रूरी हो जाती हैं। वर्तमान में मौसम की स्थिति को देखते हुए, आने वाले दिनों में सड़कों की गुणवत्ता खराब हो सकती है।

समस्या को हल करने के लिए तत्काल कार्रवाई की जरूरत है!


यहां, परियोजना से संबंधित अधिकारियों के लिए स्थिति का संज्ञान लेना और जल्द से जल्द आवश्यक उपाय करना बहुत महत्वपूर्ण है। आमतौर पर, ऐसे मुद्दों को छोटी समस्याओं के रूप में देखा जाता है और उनपर तभी ध्यान दिया जाता है, जब कोई दुर्घटना हो। इसलिए, यह आवश्यक है कि सड़कों को न केवल स्थानीय निवासियों के लिए समस्याओं को कम करने के लिए बल्कि किसी भी दुर्घटना को रोकने के लिए भी सुधारा जाए।