उत्तर प्रदेश सरकार ने लखनऊ में शराब की दुकानों को आज से सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक खोलने का आदेश दिया है। एसआरएस मॉल में मदिरा सहित सभी वॉक-इन-स्टोर और शहर भर में अन्य शराब की दुकानें वर्तमान स्थिति को देखते हुए स्थापित एसओपी के मानदंडों के तहत ही संचालित होंगी। निवेदन है कि सभी लोग कोविड संबंधित मानदंडों का पालन करें। शराब विक्रेता वेलफेयर एसोसिएशन ने राज्य के फैसले को स्वीकार किया है और उनका मानना ​​है कि शराब की बिक्री से अब लॉकडाउन के दौरान हुए नुकसान को कवर करने में मदद मिलेगी।

लखनऊ में अवैध दुकानों पर छापेमारी करेगा आबकारी विभाग


लॉकडाउन के चलते होने वाले नुकसानों को देखते हुए शराब के विक्रेताओं द्वारा लगातार अनुरोध के बाद सरकार ने लखनऊ और कुछ अन्य जिलों में शराब की दुकानों के खुलने की अनुमति दी है। देश के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य में शराब का व्यापार काफी तेज़ चलता है और उसके बंद होने से राज्य को लगभग 100 करोड़ रुपये तक का नुक्सान रोज़ हुआ है। इतने भारी नुक्सान की भरपाई के लिए ही लखनऊ शहर और अन्य सूचीबद्ध जिलों की सभी शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति दी गयी है।

इसी बीच पुलिस के साथ एक्साइज विभाग को अवैध शराब की दुकानों पर छापामारी करने का काम सौंपा गया है। इसके अलावा लोग हमेशा एसआरएस के मदिरा जैसे बड़े वॉक इन स्टोर से शराब खरीद सकते हैं। यह स्टोर न ही सिर्फ सामाजिक दूरी का पालन करता है बल्कि प्रीमियम और क्वालिटी शराब की अनेक किस्में भी यहां उपलब्ध हैं। ऐसे स्टोर्स पर लोग दुकानों की अपेक्षा लम्बी लाइनों में खड़े होने से भी बच सकते हैं। लोगों से यह अनुरोध है की वे कोविड के प्रति सुरक्षा का ख़ास ख्याल रखें और घर से निकलने पर ठीक तरह से डबल मास्क ज़रूर लगाएं, साथ ही अन्य कोविड के मानदंडों जैसे सामजिक दूरी का भी कड़ाई से पालन करें।