लखनऊ शहर लगातार दूसरे वर्ष महामारी से उत्पन्न विभिन्न कठिन परिस्थितियों के उग्र प्रभावों के बीच फंसा हुआ है। इन मौजूदा परिस्थितियों में फंसे नागरिकों को बचाने और आवशयक सहायता प्रदान करने की ज़िम्मेदारी कुछ कॉलेज के छात्रों ने अपने कन्धों पर ली है। सशक्त वेलफेयर सोसाइटी नामक अपनी संस्था के माध्यम से इन कॉलेज छात्रों ने अनेक कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं।

लखनऊ के सदर गुरुद्वारे के समर्थन के साथ अनेक कल्याणकारी कार्यक्रम


सशक्त वेलफेयर सोसाइटी को समाज के जरूरतमंद वर्ग के लोगों की परेशानियों को देखकर माहमारी के समय ही शुरू ही किया गया। मन में निःस्वार्थ भाव और संवेदनशीलता लेकर सितम्बर 2020 में सार्थक वेलफेयर सोसाइटी की नीव राखी गयी और दिसंबर में यह एक एनजीओ के रूप में रजिस्टर हो गया। शुरूआती महीनों में संस्था ने ज़रूरतमंद लोगों को आवश्यक सामन जैसे राशन प्रदान करके उनकी इस कठिन समय में सहायता की।

जब कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने शहर को कब्ज़े में लिया तब इन नेकदिल सेवकों ने एक जुट होकर सभी कोरोना मरीज़ों के लिए अस्पताल के बेड, ऑक्सीजन और अन्य मेडिकल सप्लाई सुनिश्चित किया। इसके अलावा संस्था ने सरदार गुरुद्वारा की गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के साथ मिलकर निःशुल्क खाना बांटना शुरू किया, शववाहन की सेवाएं और आरटीपीसीआर टेस्टिंग सुविधा प्रदान की। Knocksense से बात करते हुए संस्थापक आनंद नारायण ने बताया की संस्था के मेंबर इन सभी कल्याणकारी योजनाओं में आवश्यक मेडिकल सहायता और लॉजिस्टिकल सहायता प्रदान कर रहे हैं।


इसके अलावा इस समूह ने आवारा जानवरों को खाना खिलाने के लिए "एक टुकड़ा प्यार का" नामक एक स्कीम शुरू की है। पहले भी उन्हें कोरोना के मरीज़ों को भावनात्मक रूप से सहयोग प्रदान के लिए उनके साथ ज़ूम कॉल करते थे और अब हर रविवार को वे एक प्रशिक्षित परामर्श मनोवैज्ञानिक की मदद से 'ग्रटिटूड मैडिटेशन ' सत्र आयोजित कर रहे हैं। उनके उपायों के दायरे को देखते हुए, यह स्पष्ट है कि समूह नागरिकों को महामारी के गंभीर प्रभावों से हर संभव तरीके से मदद करने की कोशिशों में लगा हुआ है!




ऑक्सीजन बेड और टीकाकरण अभियान में सहायता


अपनी शुरूआती योजनाओं में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त करने के बाद, 'सशक्त' अब अपने संचालन के पैमाने का विस्तार करने की कल्पना कर रहा है। सहयोगी प्रयासों के साथ मिलकर युवा नेतृत्व वाला संगठन आने वाले दिनों में 20 ऑक्सीजन बेड स्थापित करेगा।

इसके अलावा संगठन उन नागरिक जिनको टीकाकरण अभियान में स्लॉट बुक करने में परेशानी हो रही है, उनकी इस प्रक्रिया को पूरा करने में मदद करेगा। एनजीओ के जनरल सेक्रेटरी ने कहा "समाज के वंचित वर्गों को टीकाकरण की आवश्यकताओं के बारे में और महत्व के बारे में शिक्षित करने के अलावा, हम रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया में भी मदद करेंगे और उनकी ओर से बुकिंग करवाएंगे।"

हालांकि एनजीओ ने ज़रुरत के क्षेत्रों की पहचान की है और इसी सम्बन्ध में अनेक योजनाओं का प्रस्ताव रखा है और इन व्यापक योजनाओं को लागू करने के लिए धन की कमी का सामना कर रहा है और बड़े पैमाने पर योजनाएं हमें उन लोगों की मदद करने के लिए बाध्य करती है जिन्हे हमारे जैसे विशेषाधिकार प्राप्त नहीं हैं। इसलिए, यदि आप सामाजिक सुरक्षा और कल्याण की दिशा में उनकी इस यात्रा में अपना योगदान देना चाहते हैं, तो आप निम्न खाते में दान कर सकते हैं-

अकाउंट नंबर - 77280100009959 IFSC कोड - BARB0VJCANT सशक्त वेलफेयर सोसाइटी बैंक ऑफ बड़ौदा, सदर बाजार कैंट लखनऊ