लखनऊवासियों के आवगमन को आसान बनाने के लिए पीडब्लूडी शहर को एक और फ्लाईओवर का तोहफा देने जा रहा है। यह फ्लाईओवर खुर्रमनगर चौराहे पर यातायात के भारी दबाव को कम करने के लिए बनाया जाएगा। इसका निर्माण कार्य इस साल अगस्त में शुरू किया जाएगा और इसमें करीब 180 करोड़ की लागत आएगी। पीडब्लूडी ने इस फ्लाईओवर के निर्माण कार्य को 18 महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा है। इस फ्लाईओवर के बन जाने से करीब रोजाना 45,000 राहगीरों को भारी ट्रैफिक से राहत मिलेगी और उनका समय बचेगा। वहीं, कुकरैल फ्लाईओवर की तरफ क्लोवर लीफ लेन का निर्माण दूसरे चरण में किया जाएगा।

दिसंबर 2022 तक यह फ्लाईओवर होगा तैयार


अधिशासी अभियंता धर्मवीर सिंह ने बताया कि पहले चरण में खुर्रमनगर से सेक्टर 25 के बीच फ्लाईओवर बनेगा। दूसरे चरण में कुकरैल फ्लाईओवर की तरफ क्लोवर लीफ का निर्माण होगा। इससे खुर्रमनगर फ्लाईओवर से सीधे कुकरैल फ्लाईओवर पर पंहुचा जा सकेगा। क्यूंकि अभी यहां क्रॉसिंग नहीं बनी है इसलिए यहां ट्रैफिक रॉंग साइड चलता है जिससे हादसे की आशंका बनी रहती है।

पीडब्लूडी के नेशनल हाईवे डिवीज़न के अधिशासी अभियंता धर्मवीर सिंह ने बताया कि फ्लाईओवर के निर्माण के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है और इसे जून में पुरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा विभाग की कोशिश है कि टेढ़ीपुलिया फ्लाईओवर की तरह इस फ्लाईओवर का काम भी समय से पूरा कर लिया जाए, और दिसंबर 2022 तक यह ट्रैफिक के आवगमन के लिए पूरी तरह तैयार हो जाए। यह फ्लाईओवर खुर्रमनगर चौराहा और सेक्टर 25 चौराहे के ऊपर से गुजरेगा। इससे दोनों चौराहों पर ट्रैफिक का दबाव कम होगा और एक बेहतर यातायात व्यवस्था बनेगी। इन दोनों चौराहों पर अंडरपास भी बनाए जाएंगे जिससे आस पास का ट्रैफिक प्रभावित न हो और लोगों को आने जाने में आसानी हो।