मुख्य बिंदु

- लखनऊ में डेंगू की जांच के लिए जिला प्रशासन द्वारा अधिकतम दरों का निर्धारण किया गया।

- नागरिकों को ओवरचार्जिंग से बचाने के लिए उठाया गया यह कदम।

- यदि किसी लैब/हॉस्पिटल द्वारा डेंगू से पीड़ित रोगी से अधिक धन की वसूली की जाती है तो उसके विरुद्ध महामारी एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी।

उपभोक्ता संरक्षण की दिशा में एक बड़ा कदम उठाते हुए, लखनऊ में जिला प्रशासन ने डेंगू और संबंधित जांचों के लिए वसूली जाने वाली अधिकतम दरों को निर्धारित किया। कथित तौर पर, जिला अधिकारियों को अधिक पैसे वसूलने (ओवरचार्जिंग) के संबंध में कई शिकायतें मिलीं और जिसके चलते उन्होंने जांचों के मूल्य को निर्धारित करने का फैसला किया। सूची के अनुसार, नागरिकों से NS1 एलिसा परीक्षण के लिए ₹1,200 से अधिक शुल्क नहीं लिया जा सकता है, यदि यह लैब में किया जाता है और ₹1,400 से अधिक नहीं, यदि टेस्ट रोगी के घर पर होता है।

अनुपालन न करने पर होगी सख्त कानूनी कार्रवाई


इस उपाय के कार्यान्वयन के साथ, जिला प्रशासन निवासियों के लिए वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहा है, जब शहर में डेंगू के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हों। इसके अलावा, सभी अस्पतालों और लैब्स को चेतावनी दी गई है कि तय सीमा से अधिक मूल्य वसूलने पर महामारी रोग अधिनियम के तहत सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

जहां अधिकारियों ने सामान्य डेंगू टेस्ट के लिए अधिकतम मूल्य निर्धारित किए हैं, वहीं जारी किए गई सूची में अन्य जांचे भी शामिल हैं। आप नीचे दी गई तालिका में तय मूल्य सीमा सकते हैं-

डेंगू जांच के लिए जारी दरें

NS1 ELISA लैब में 1200 रुपये

NS1 ELISA रोगी के घर मे 1400 रुपये

NS1 CARD TEST 1000 रुपये

IGM ELISA लैब में 750 रुपये

IGM ELISA रोगी के घर मे 800 रुपये

IGA ELISA लैब में 750 रुपये

IGA ELISA रोगी के घर मे 800 रुपये

IGM CARD TEST 600 रुपये

LATELET COUNT लैब में 250 रुपये

PLATELET COUNT रोगी के घर मे 350 रुपये

1 UNIT PLATELET RDP 400 रुपये

अक्सर यह देखा गया है कि शहर के कुछ केंद्र आपदा में अवसर ढ़ूढ़ने लगते हैं । इसे देखते हुए, कीमतों को सीमित करना महत्वपूर्ण था, ताकि नागरिकों को गैरकानूनी मूल्य निर्धारण से बचाया जा सके। यदि आपसे उपर्युक्त दरों से अधिक कीमत वसूल की जाती है, तो आपको सीधे जिला प्रशासन को रिपोर्ट कर सकते हैं।