जैसे-जैसे लखनऊ शहर में कोरोना संक्रमण के मामले नियंत्रित होते हुए नज़र आ रहे हैं, वैसे ही इस बात पर भी कड़ी नज़र रखनी ज़रूरी है की किसी भी चूक के कारण संक्रमण वापस न बढ़ने पाए। इस बात को गंभीरता से लेते हुए प्रशासन ने जल्द और आसान कोरोना टेस्ट करवाने के लिए 11 मोबाइल टेस्टिंग वैन तैनात करने की योजना बनायीं हैं। शुक्रवार से शुरू होने वाली इस सुविधा के चलते ये वैन नागरिकों की सुविधाजनक टेस्टिंग करने के लिए शहर भर में घूमेंगी।

7 प्राइवेट लैब्स के साथ मिलकर बढ़ाई जाएगी टेस्टिंग


कोरोना से बचाव के चलते की जा रही कोशिशों का विस्तार करते हुए जिला प्रशासन की ओर से शुरू होने वाली मोबाइल लैब वैन सेवा में कुल 11 लैब वैन इस काम में लगाई गई हैं। जिनमें से 7 लैब वैन लाइफ केयर, पॉलीवॉल, अमा डियग्नोस्टिक, सम्भावी डायग्नोस्टिक, आरएमएल, चरक और चंदन डायग्नोस्टिक जैसे निजी संस्थानों के सहयोग से चलाई जाएगी और इन्हीं निजी संस्थानों वाली 7 लैब वैन से शुक्रवार को इस सेवा की शुरुआत की जाएगी। इसके बाद में जिला प्रशासन की ओर से 4 अन्य लैब वैन को इससे जोड़ा जाएगा।

लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश ने बताया की " कोरोना सैंपल कलेक्ट करने के दौरान संक्रमित व्यक्ति का फोन नंबर और पता स्टाफ द्वारा नोट कर लिया जाएगा। इसके अलावा मरीज़ के टेस्ट का रिजल्ट चाहे नेगेटिव हो या फिर पॉजिटिव उसी दिन पोर्टल पर अपलोड हो जाएगा। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा की यदि टेस्ट के लिए प्राइवेट लैब द्वारा अधिक शुल्क लेने की शिकायत दर्ज की गयी तो उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी। सभी टेस्टिंग लैब्स के लिए नागरिकों से टेस्ट के लिए शुल्क लेते समय राज्य द्वारा निर्धारित दरों का पालन करना अनिवार्य है।

लखनऊ में बुधवार को 493 नए मामले और 1400 लोग ठीक हुए


बुधवार को लखनऊ में 493 नए मामलों के साथ 1400 लोग कोरोना से रिकवर हो गए। वहीं, सक्रीय मरीज़ों की संख्या और कम होकर 7,917 हो गयी। शहर के लोगों को राहत की सांस देते हुए लगातार तीन हफ़्तों से रोज़ाना दर्ज होने वाले नए मामले काफी कम हो गए हैं। जहां, 2,35,208 लोग अभी तक शहर में कोरोना से संक्रमित हुए हैं वहीँ इनमें से 2,316 लोगों की कोरोना से जान चली गयी।