कोविड मामलों की संख्या में लम्बे समय तक अभूतपूर्व उछाल के बाद, ताज़ा संक्रमणों की दैनिक गणना की संख्या धीरे-धीरे नियंत्रित और कम हो रही है। पिछले 3 दिनों में लगातार गिरावट के साथ, 3,229 रिकवरी के साथ मंगलवार को 1,153 नए मामले दर्ज किए गए। ठीक होने वाले लोगों की बढ़ती संख्या और नए मामलों में गिरावट के कारण लखनऊ में सक्रिय मामलों की कुल संख्या में भी कमी हुई है और मंगलवार को यह आंकड़ा 19,842 था।

कोविड मामलों की खतरनाक वृद्धि के बाद मिली कुछ राहत


पिछले एक महीने में संक्रमण ने शहर में कहर बरपाया, लोगों की बड़ी संख्या में संक्रमित किया और बहुत सारे लोगों की जान ले ली। रिकॉर्ड के अनुसार, कुल 591 लोग अकेले अप्रैल में इस जानलेवा वायरस का शिकार हो गए, जबकि पिछले 11 दिनों में 338 लोगों ने अपनी जान गवां दी। अब, नए मामलों में आई गिरावट के साथ, यह अनुमान लगाया जा सकता है कि आने वाले दिनों में मृत्यु दर भी कम होगा।

लखनऊ के लिए सबसे बड़ी राहत की बात ये है कि ठीक होने वाले मरीज़ों की संख्या में तेज़ी से बढ़ रही है। मई के पिछले 11 दिनों में, 48,995 व्यक्तियों ने इस बिमारी को मात दी है, और ऐसी उम्मीद की जा रही है कि आने वाले दिनों में रिकवर होने वाले मरीज़ों की संख्या में और भी बढ़ोत्तरी होगी।

शहर में व्यस्कों के लिए टीकाकरण जारी है


देश के कोविड टीकाकरण कार्यक्रमों में सबसे आगे होने के नाते, उत्तर प्रदेश में लोगों की एक बड़ी संख्या का टीकाकरण किया गया है। रिकॉर्ड के अनुसार, पूरे राज्य में नागरिकों को कुल 1,37,60,662 जैब दिए गए हैं, इसमें से 6,46,598 खुराक लखनऊ में नागरिकों को दी गई है। वर्तमान में, सभी 18+ व्यक्तियों के लिए वैक्सीनेशन ड्राइव लखनऊ और उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों में चल रही है।

केंद्र सरकार द्वारा 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों के लिए टीकाकरण कार्यक्रम की घोषणा के बाद, उत्तर प्रदेश प्रशासन ने सभी वयस्कों का मुफ्त टीकाकरण करने की घोषणा की। वैक्सीन खुराक की आवश्यकता को पूरा करने के लिए सरकार ने पहले ही 1 करोड़ से अधिक खुराकों का ऑर्डर दे दिया है। जारी सूचना के अनुसार, इनमें से 50% कोविशल्ड, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा प्रदान किए जाएंगे, जबकि अन्य भारत बायोटेक से प्राप्त किए जाने वाले कोवाक्सिन खुराक होंगे।