राजधानी लखनऊ में दिसंबर के महीने में फूड मेले का आयोजन होने जा रहा है जिसमें शहरवासियों को उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों के प्रसिद्ध पकवानों के स्वादों को चखने और जानने का मौका मिलेगा। यह फूड मेला गोमती नदी के किनारे रिवर फ्रंट पर लगाया जाएगा और इसका उद्घाटन मुख्यमंत्री करेंगे। फूड मेले के आयोजन के लिए जिला प्रशासन ने अपनी तरफ से तैयारियां शुरू कर दी है, साथ ही मेले के शानदार आयोजन की रुपरेखा तैयार की जा रही है। इस मेले के आयोजन की जिम्मेदारी एफडीएसए की टीम को सौंपी गई है।

फूड मेले में वेंडर्स अपने शहर के पारम्परिक परिधान में दिखेंगे

फूड मेले में लखनऊ के पकवानों के साथ साथ शहर के प्रसिद्ध नामी प्रतिष्ठानों और स्ट्रीट फूड जोन को भी बनाया जाएगा। मेले में लखनऊ की मशहूर गुलाब रेवड़ी से लेकर वेज और नॉनवेज के भी स्टॉल लगाए जाएंगे। फूड मेले में प्रदेश के हर शहर की झलक देखने को मिलेगी और लखनऊ के स्टॉल्स पर वेंडर्स चिकन का कुर्ता-पायजामा पहने दिखेंगे, साथ ही प्रयागराज के दुकानदार वहां के पारंपरिक परिधान में दिखेंगे।

इसी तरह जिन शहरों में जैसी पोशाक वहां की पहचान है, उसी में वेंडर्स को स्टॉल पर खड़ा करने की तैयारी की जा रही है, इस व्यवस्था से लोग ड्रेस देखकर ही शहर के स्टॉल की पहचान कर सकेंगे। फूड मेले में जायकेदार व्यंजनों के साथ ओडीओपी के भी स्टॉल लागए जाएंगे। ओडीओपी के तहत जिस जिले के जिस प्रोडक्ट की डिमांड है, उसका भी स्टॉल लगाया जाएगा, इसके लिए जिलों केजिला प्रोत्साहन केंद्रों से भी संपर्क किया जा रहा है।

लोगों को अच्छे खानपान, निरोग और स्वस्थ रहने की दी जाएगी जानकारी

एफडीएसए के डीओ डॉ. एसपी सिंह ने बताया की फूड मेले का मकसद लोगों को हेल्दी खानपान के बारे में जागरूक करना है। एफडीएसए मेले में अपना भी स्टॉल लगाएगा, जिसमें लोगों को बताया जाएगा कि वे मौजूदा परिवेश में अपने खानपान को किस तरह बेहतर रखकर स्वस्थ और निरोग रह सकते हैं। इसके
साथ ही मेले में स्टॉल लगाने वालों को भी जागरूक किया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *