जहां वर्क फ्रॉम होम यानी घर से काम करने के कई फायदे हैं, वहीं अपने निजी जीवन और ऑफिस के काम संतुलन बनाए रखना कभी-कभी मुश्किल हो जाता है। इसके परिणामस्वरूप समाज का कामकाजी वर्ग मानसिक थकान का शिकार होने के अलावा, वास्तविक जीवन की सादगी और छोटी-छोटी खुशियों का आनंद नहीं ले पाता। लोग काम के बोझ के चलते अपने वास्तविक जीवन से संपर्क ही खो बैठते हैं। यहां हमने 5 सुझावों की एक सूची दी है, जो आपको इस महामारी और लॉकडाउन के दौरान घर से काम करते हुए अपने निजी जीवन और काम के बीच संतुलन के बनाए रखने में मदद करेंगी।

काम करने के लिए एक अलग कमरे का चयन करें


समय के साथ काम करने के तरीके में भी तेजी से बदलाव आने से यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि हम अपने लिए कुछ सीमाएं निर्धारित करें, और इसीलिए आपके पास घर में काम करने के लिए एक अलग स्थान होना चाहिए, जहां आपके काम में कोई दखल न दे सके और आप ध्यान लगाकर काम कर पाएं। इसके अलावा बिस्तर पर लेटकर काम करने से भी आपकी कार्य क्षमता पर असर पड़ सकता है, कोशिश करें की घर पर भी एक जगह बैठ कर, निर्धारित समय पर ही काम करें, जिससे आप बाकी सभी दूसरे काम सही समय पर कर पाएं।

समय निकालकर अपने ऑफिस के सहकर्मियों से बात करें


ऑफिस के कैफेटेरिया में अपने कलीग्स से मिलना, बातें करना और साथ में खाना खाना हम सभी को याद आता होगा, इससे न ही केवल हम उन्हें बेहतर ढ़ंग से समझ पाते थे, बल्कि अपनी भावनाए और बातें उनसे साझा करके मन को भी हल्का हो जाता था। अब भले ही व्यक्तिगत रूप से उनसे मिलना संभव न हो, लेकिन फिर भी हमें हफ्ते में कम से कम एक बार उनसे फॉन या विडियो कॉल के माध्यम से बात करनी चाहिए और अपनी कठियानियों या भावनाओं को उनके सामने व्यक्त करना चाहिए। इससे आपके रिश्ते उनके साथ मजबूत होंगे और अपनी भावनाओं के बारे में खुलकर बात कर पाएंगे

अपनी कार्य क्षमता बढ़ाने का तरीका खोजें


कुछ लोग नियमित अंतराल पर छोटे ब्रेक लेकर अधिक काम कर पाते हैं, जबकि अन्य कोई भी ब्रेक लेने से पहले सभी कार्यों को पूरा करना पसंद करते हैं, क्योंकि बीच में ब्रेक लेने के बाद फिर से अपना ध्यान काम पर केंद्रित करना पड़ता है। आप वह रास्ता अपनाए जो आपको बेहतर लगता हो, ताकि आपको मिले सभी कार्य, निर्धारित समय के भीतर पूरे हो जाएं और आप बचे हुए दिन के समय का प्रयोग अपने अन्य कामो के लिए कर सकें। अगर इसके अलावा किसी तरीके से आपकी कार्य क्षमता में वृद्धि होती है तो उसका अनुसरण करें।

ऑफिस के बाद कुछ समय अकेले व्यतीत करें


दिन भर काम में व्यस्त रहने के बाद, कुछ वक्त अकेले अपने विचारों के साथ व्यतीत करें। इससे आप अपने विचारों और खुद को बेहतर ढ़ंग से समझ पाएंगे, और साथ ही शांत मन से सोचने पर आप अपनी उलझनों को दूर करने में मदद मिलेगी। महामारी के समय हम सभी कई समस्यायों एवं मानसिक तनाव से जूझ रहे हैं, ऐसे हालातों में यह महत्वपूर्ण हो जाता है की हम अपने अंतर्मन से जुड़े रहें। इसलिए ऑफिस के काम के बाद आप सभी गैजेट्स से कुछ देर दूर रहें और अकेले समय बिताएं, इसके अलावा आप अपनी चाय की चुस्की लेते हुए या कोई किताब पढ़ते हुए, घर की बालकनी, छत या अपने किसी कमरे में भी अपने साथ कुछ पल बिता सकते हैं।

रूटीन का पालन करें


अंत में हम आपको यह सुझाव देना चाहेंगे जीवन में कोई भी कार्य करने के लिए अनुशासन सबसे महत्वपूर्ण है, इसलिए अनुशासित रूप में एक अच्छी दिनचर्या का पालन करें। इस दिनचर्या में समय पर भोजन करें, पर्याप्त नींद लें, घर पर व्यायाम या योग करें और अपने समय का सदुपयोग करें। इन सभी कार्यों को सम्मिलित करते हुए, एक रूटीन बनाए, अलार्म लगाए और इसका पालन करें।

नॉक-नॉक

हम सभी यह आशा कर रहे हैं कि जल्द से जल्द यह महामारी समाप्त हो जाए और हमारा जीवन पहले की तरह सामान्य हो जाए। इन सुझावों में से कई चीज़ों का अनुसरण आपको इस महामारी के बाद भी करना चाहिए, जिससे आपके जीवन में संतुलन बना रहेगा। हमें उम्मीद है यह टिप्स आपके वर्क फ्रॉम होम के अनुभव को और भी बेहतर बनाएंगी।