लखनऊ ने बीते कुछ दिनों में महामारी का सबसे बुरा दौर देखा है, और इस कारण लोगों को सबसे बुरी परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। किसी ने अपनों को खोया, तो कोई असहाय अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में बुनियादी जरूरतों को लेकर परेशान है। इन सभी परेशानियों को देखते हुए शहर के कुछ सामाजिक संगठन, संस्थान और दरियादिल लोग एक दूसरे की और आम जनता की मदद के लिए आगे आये ताकि किसी को कोई परेशानी न हो और कोई भूखा न रहे।


पूरी दुनिया में में अपनी बिरयानी के लिए मशहूर वाहिद बिरयानी समाज के हर तबके की भूख मिटाने के लिए आगे आया है। शहर के अस्पतालों जैसे मेडिकल कॉलेज, ट्रामा सेंटर के बाहर, सिविल अस्पताल और लोहिया संस्थान के साथ शहर के अलग अलग इलाकों में लोगों को दो वक़्त का खाना खिलाकर उनकी निस्वार्थ सेवा कर रहा है। इसके साथ ही लॉकडाउन लग जाने से रोज कमाने खाने वाले रिक्शा चालक, मज़दूरी करने वाले और सड़कों पर गरीब असहाय लोगों की कमाई का जरिया बंद हो चूका है जिससे ऐसे सभी लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इन सभी की इस तकलीफ को देखते हुए करीब 2000 लोगों को रोजाना दो वक़्त का खाना वाहिद बिरयानी द्वारा लोगों को मुहैया करवाया जा रहा है। खाने में वेज बिरयानी, वेज पुलाव समेत हर दिन खाने का मेनू बदला जाता है ताकि लोग लजीज़ खाने का लुफ्त भी उठा सकें और उनकी भूख भी मिट जाए।


इसके साथ ही वाहिद बिरयानी ने जरूरतमंदो के लिए निःशुल्क होम डिलीवरी भी शुरू कर दी है ताकि जो लोग किसी कारण उनके केंद्रों पर नहीं जा सकते या फिर कोरोना बीमारी या अन्य किसी बीमारी के कारण आने जाने में असमर्थ है, ऐसे सभी लोगों के लिए खाना उनके घर पर पंहुचा दिया जाता है। खाना मंगवाने के लिए आपको सिर्फ अपना नाम, पता और मोबाइल नंबर वाहिद बिरयानी की हेल्पलाइन सेवा पर दर्ज करवाना होगा। नंबर - 9125066660, 7860786003, 7275727271, 8858633613 . यह सेवा सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक उपलब्ध है।


वाहिद बिरयानी के मालिक आबिद अली कुरैशी जी ने Knocksense से बात करते हुए बताया, '' हमें लोगों को बहुत प्यार मिला है, और अब इस विषम परिस्थिति में लोग बहुत ही बुरे समय से गुजर रहे है, मुफ़लिस लोग दूसरों पर निर्भर रहकर ही अपना जीवन जी रहे थे, लेकिन कोरोना महामारी और लॉकडाउन के कारण समाज का हर तबका बुरी तरह प्रभावित हुआ है जिससे सभी ने कुछ न कुछ खो दिया है। ऐसे में हम अपनी इस छोटी सी कोशिश के साथ लोगों को साथ दे रहे है उनकी मदद कर रहे है, ताकि वो खुद को असहाय न समझें और कोई भी भूखा न रहे। हमारी यह सेवा हर किसी के लिए है चाहे कोई अमीर हो या गरीब हम सबको बराबरी के साथ खाना मुहैया करवा रहे है। हमारी टीम शहर के अलग अलग इलाकों में जाकर खाना बांटती हैं, और इस कार्य में हमारे साथ मोहम्मद फैज़ान, मोहम्मद शाकिब कुरैशी, मोहम्मद आकिब कुरैशी और मोहम्मद अबसार समेत वाहिद बिरयानी के सभी कर्मचारी हमारा पूरा साथ दे रहे है। हमारी कोशिश तब तक जारी रहेगी जब तक स्थितियां पहले की तरह सामान्य नहीं हो जाती।''