राजधानी लखनऊ में परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का काम अब फिर से शुरू होने जा रहा है। परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने अप्रैल के महीने में कोरोना के बढ़ते मामले और जिले के खराब हालात को देखते हुए डीएल बनाने का काम बंद करवा दिया था। अब क्यूंकि कोरोना संक्रमण काबू में हैं तो परमानेंट डीएल बनाने का काम आज यानी 31 मई से शुरू हो गया है। हालांकि लर्निंग डीएल बनाने का काम फिलहाल 30 जून तक बंद रहेगा। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए डीएल आवेदकों को तीन शिफ्टों में बुलाया जाएगा। अधिकारियों ने रविवार को ट्रांसपोर्ट नगर और देवा रोड के परिवहन कार्यालय का पूरी तरीके से सैनिटाइजेशन कराया है।


ट्रांसपोर्ट नगर आरटीओ और देवा रोड स्थित एआरटीओ कार्यालय में पूर्व में आवंटित स्लॉट के आवेदकों के लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा। पहली शिफ्ट सुबह 10 से 12:30, दूसरी 12:30 से 2:30, तीसरी 3 से 5 बजे तक होगी। एक शिफ्ट में 60 आवेदकों को प्रवेश मिलेगा। समय से पहले पहुंचने वाले आवेदकों को सारथी भवन के बाहर रोका जाएगा। इनमें कोरोना संकट में लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस के निरस्त टाइम स्लॉट वाले आवेदकों को 30 जून के बाद व नवीनीकरण और डुप्लीकेट के आवेदकों के निरस्त टाइम स्लॉट वाले आवेदकों को 15 जून के बाद दुबारा टाइम स्लॉट अप्वॉइंटमेंट लेकर आना पड़ेगा।

ऐसे चेक करें नया स्लॉट

परमानेंट डीएल के आवेदक परिवहन विभाग की वेबसाइट https://sarathi.parivahan.gov.in/slots/dlSlotEnquiry.do पर जाकर एप्लीकेशन नंबर और जन्म तिथि डालकर नए स्लॉट की तारीख चेक कर सकते हैं। इसके जरिए बदले गए स्लॉट की जानकारी करके आरटीओ ऑफिस जाकर लाइसेंस की प्रक्रिया को पूरा सकते हैं।