प्रदेश में कोरोना महामारी कि दूसरी लहर लगभग खत्म होती दिखाई दे रही है। और अब ऐसे में राज्य और जिला प्रशासन संभावित तीसरी लहर से लड़ने के लिए और आम जनता की सुरक्षा के लिए प्रदेश के मेडिकल संसाधनों को दुरुस्त करने में लगी हुई है। इसी कड़ी में लखनऊ में कपूरथला 'जामा मस्जिद' ने भी तीसरी लहर से लड़ने और आवाम को मदद पहुंचाने के लिए कमर कस ली है। जामा मस्जिद कमिटी ने संभावित तीसरी कोरोना की लहर से लड़ने के लिए तैयारियां अभी से शुरू कर दी है और लगभग पूरी भी कर ली है। जामा मस्जिद में ऑक्सीजन रिफिल करने की भी तैयारियां पूरी कर ली गई है, साथ ही ऑक्सीजन सिलिंडर के साथ साथ एम्बुलेंस की संख्या में भी इज़ाफा किया है।

मस्जिद कमिटी बच्चों के लिए कर रही विशेष व्यवस्था


जामा मस्जिद कमिटी ने संभावित तीसरी कोरोना लहर से बच्चों को बचाने और उनके उपचार के लिए विशेष व्यवस्था की है। कमिटी ने बच्चों के लिए मिनी ऑक्सीजन सिलिंडर और मास्क की व्यवस्था की है। मिनी ऑक्सीजन सिलिंडर ऐसे हैं की जरूरत पड़ने पर महिलाएं भी इसे आसानी से उठाकर कहीं भी ले जा सकती हैं। इसके साथ ही ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर की संख्या भी बढ़ाकर 15 कर दी है। बच्चों को उनके पोषण के लिए डिब्बेवाला दूध भी उपलब्ध कराया जाएगा।


मौलाना तौहीद ने बताया कि बच्चों के उपचार और देखरेख के लिए हमने चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम बनाई है जो बच्चों का इलाज करेगी। बच्चों को हर संभव मदद दी जायेगी उनका उपचार, दवा और अन्य प्रकार की सभी व्यवस्था हम कर रहे हैं। मस्जिद के पास दो एम्बुलेंस है और अब एक और खरीदने की तयारी चल रही है। इसके साथ ही मस्जिदन के पास करीब 20 ऑक्सीजन सिलिंडर मौजूद है। जामा मस्जिद कमिटी ने इन सब व्यवस्थाओं के लिए मस्जिद के नमाजियों और अन्य लोगों से मदद ली है। कमिटी ने अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस पहल में हमारी मदद के लिए आगे आएं ताकि हम सब मिलकर समाज के हर एक व्यक्ति की मदद कर सकें और इस महामारी से जंग जीत सकें।

मस्जिद की तरफ से दी जारी है निःशुल्क सेवाएं


मस्जिद कमिटी ने अपनी तरफ से खरीदी गई एम्बुलेंस को लोगों की सेवाओं में लगा दिया है। यह एम्बुलेंस कोरोना मरीजों को निःशुल्क अस्पताल लाने ले जाने में मदद कर रही है, साथ ही एम्बुलेंस कोरोना के कारण मृत लोगों के शवों को भी शमशान और कब्रिस्तान निःशुल्क पंहुचा रही है। मस्जिद कमिटी जरूरतमंदो को निःशुल्क ऑक्सीजन, दवाएं, आर्थिक मदद और राशन किट भी मुहैया करवा रही है। अब तक करीब 300 से ज्यादा लोगों को ऑक्सीजन सिलिंडर दिए गए, जिनमें से कई लोगों को बड़े ऑक्सीजन सिलिंडर दिए गए और करीब 500 से ज्यादा लोगों को राशन किट देकर उनकी मदद की और ये सिलसिला अभी भी जारी है और आगे भी जारी रहेगा। फ़िलहाल मस्जिद कमिटी संभावित कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए अपनी तैयारियों पर जोर दे रही है और लोगों की मदद भी कर रही है।