कोरोना वायरस महामारी ने हमारे जीवन और जीवन जीने के तरीके कों हमेशा के लिए बदल दिया है। इस युग ने यह साबित कर दिया है की निःस्वार्थ भाव से परेशानियों से जूझ रहे लोगों की मदद करके इंसानियत की मिसाल कायम करने वाले आदर्श लोग फिल्मों में ही नहीं असल जीवन में भी देखने को मिलते हैं और ऐसे ही नेकदिल इंसानों के एक समूह में आप भी शामिल हो सकते हैं और अपनी कोशिशों से किसी ज़रूरतमंद की मदद कर सकते हैं। लखनऊ के 'सीए हेल्पिंग हैंड फाउंडेशन' को समर्थन देने के लिए अपना हाथ बढ़ाएं और इस संगठन के साथ मिलकर कोरोना के खिलाफ सहायता की कड़ियों को विस्तृत और मज़बूत करने में अपना योगदान दें।

कोरोना में सहायता कर रहे हैं सीए प्रोफेशनल्स



लखनऊ के कुछ युवा सीए प्रोफेशनल्स ने कोरोना संक्रमित मरीज़ों और परिवारों की मदद के लिए एक वॉलंटियर्स का चैनल उत्पन्न किया है। संक्रमण की भयावह स्थिति को देखते हुए संगठन उन ज़रूरतमंदों की सहायता कर रहा है जो समय पर संसाधनों को जुटा पाने में असमर्थ हैं। यह फाउंडेशन सभी के लिए कोरोना उपचार सुनिश्चित करने के लिए जरूरतमंदों और उन लोगों के बीच एक कड़ी के रूप में कार्य करता है जो संसाधनों की सप्लाई प्रदान कर सकते हैं।

सीए हेल्पिंग हैंड फाउंडेशन, अप्रैल में शुरू हुई जब कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में लोग बेड, ऑक्सीजन, दवाइयां और इंजेक्शन जैसे मेडिकल संसाधनों की कमी से जूझ रहे थे। सीए प्रोफेशनल्स तब लोगों की सहायता के लिए एक रिलीफ एसोसिएशन को बनाने के लिए साथ आये और अपने असोसिएट्स के समूह के साथ एक स्थानीय नेटवर्क बनाया जिससे की जगह जगह पर लोगों की ज़रूरतों को पूरा किया जा सके।


संगठन की स्थापना की शुरुआत से 'सीए हेल्पिंग हैंड फाउंडेशन' महामारी से ग्रसित लोगों को प्लाज़्मा, दवाइयां और अन्य सभी आवश्यक संसाधनों के साथ सहायता प्रदान कर रहे हैं। इसके अलावा संगठन ने 10 डॉक्टरों की एक समिति बनायी है जो फोन पर कोरोना संक्रमित लोगों को मेडिकल परामर्श प्रदान करते हैं। क्लीनिकल सहायता के अलावा, उन्होंने जरूरतमंदों को प्रतिदिन 100 पैकेट मुफ्त पका हुआ भोजन वितरित करना भी शुरू कर दिया है। इन उत्साही व्यक्तियों की बड़ी टीम का नेतृत्व सीए राहुल वर्मा, सीए रवीश चौधरी, सीए आकाश अग्रवाल, सीए रोहित सिंह, सीए भरत मंधायानी और सीए विदित सेठ कर रहे हैं।

आप भी मदद का हाथ बढ़ा सकते हैं


सीए हेल्पिंग हैंड फाउंडेशन संपर्कों के सरल ढांचे पर काम करता है। जितने अधिक लोग होंगे, संपर्क डेटाबेस उतना ही अधिक होगा जिससे सहायता का दायरा बढ़ेगा। अब तक, फाउंडेशन स्थानीय लोगों के एक समूह के साथ काम कर रहा था और अब इस संगठन को एक औपचारिक रूप देने के लिए अन्य लोगों की आवश्यकता है। जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों को आगे आने और उनके साथ हाथ मिलाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है ताकि उन लोगों की सहायता की जा सके जो घातक कोरोना संक्रमण से पीड़ित हैं।

संगठन के लोग कर्तव्य, कर्म, निष्ठा के आदर्श से प्रेरित होकर काम करते हैं और उन्हें अधिक दान यह पैसे से सम्बंधित मदद नहीं चाहिए बल्कि उन्हें कुछ संवेदनशील लोगों की तलाश है जो शहर के अधिकतर लोगों तक पहुंचकर उनकी निःस्वार्थ सहायता कर सकें।