लखनऊ में बीते कुछ सालों में सरकार ने लगातार खेल से जुड़े विकास कार्यों पर ध्यान दिया है, और इसी के चलते प्रदेश की राजधानी में खेल से जुड़ी कई परियोजनाओं का खाका तैयार किया गया है। अब इसी कड़ी में लखनऊ को एक बार फिर हॉकी के बड़े सेंटर के रूप में स्थापित करने की कवायद शुरू हो चुकी है।सरकार ने खेलो इंडिया स्कीम के अलावा राजधानी लखनऊ में हॉकी का सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने की मंजूरी मिल चुकी है। शासन की ओर से खेल गतिविधयां शुरू होने के बाद शहर के केडी सिंह बाबू स्टेडियम में खेलो इंडिया स्कीम तुरंत शुरू हो जाएगी, जबकि सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। ऐसे में लखनऊ में अब हॉकी का परचम एक बार फिर से लहराएगा, साथ ही इससे हॉकी के युवा खिलाड़ियों को प्रोत्साहन और प्रेरणा मिलेगी।


आपको बता दें की फिलहाल लखनऊ में हॉकी के नाम पर केडी सिंह बाबू स्टेडियम में खिलाड़ियों के छात्रावास और सांई सेंटर में ट्रेनिंग दी जा रही है। क्लबों की बात करें तो यहां की हॉकी लीग में बमुशिकल दस टीमें जुटाने में ही आयोजकों बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, जिससे हॉकी लीग जैसे आयोजन कराने में दिक्कतें आती है। ऐसे में खेलो इंडिया के अलावा सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस खुलने से यहां पर हॉकी प्रोत्साहन को बल मिलेगा, जिससे यहां पर बुनियादी स्तर पर खिलाड़ियो को तैयार किया जाएगा और उनका मनोबल बढ़ाया जाएगा।


साई सेंटर के कार्यकारी निदेशक, संजय सारस्वत ने कहा, '' खेलो इंडिया स्कीम के तहत केडी सिंह बाबू में 20 से 30 खिलाड़ियों का पूल तैयार करके सेंटर तैयार किया जाएगा। इसमें केंद्र सरकार की ओर से प्रतिवर्ष 7 लाख रुपये जारी होंगे, जो कोचिंग पर खर्च होंगे। लखनऊ के अलावा प्रदेश के सभी 75 जिलों में एक खेल चिन्हित करके यह योजना लागू की जा रही है।