ऑक्सीजन की निरंतर बढ़ती हुई मांग को पूरा करते हुए रविवार की सुबह लखनऊ शहर में 6 टैंकरों से पैक दो ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन आयीं। रिपोर्ट के अनुसार, दो सेवाएं- एक चार टैंकरों के साथ और दूसरी दो रेक के साथ, बोकारो स्टील प्लांट से लखनऊ चारबाग रेलवे स्टेशन तक कुल 90.78 मीट्रिक टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) लेकर आयीं। इस बीच, ऑक्सीजन डिलीवरी ट्रेन की 10वीं सेवा कल ही चार खाली टैंकरों के साथ रिफिल होने के लिए लखनऊ से बोकारो के लिए रवाना हुई।

जीवन वर्धक ऑक्सीजन लखनऊ और बरेली पहुंची


राज्य के 'ऑक्सीजन ऑपरेशन' के तहत, ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन की दो ट्रेनों के रूप में प्रमुख कोविड राहत रविवार सुबह लखनऊ पहुंची। रेलवे प्रेस रिलीज़ के अनुसार, चार टैंकरों वाली एक ट्रेन लगभग 15 मीट्रिक टन एलएमओ के साथ पैक होकर 2 मई को पहुंची, जबकि दो टैंकरों के साथ दूसरी ट्रेन उसके पीछे जल्दी ही आयी।। लगभग 30.50 मीट्रिक टन LMO ले जाने वाली दूसरी सेवाओं को बरेली भेजा गया था, ताकि वहां उपलब्धता आसान हो सके।

जबकि एक तीसरी सेवा- 10वीं ऑक्सिजन एक्सप्रेस, रविवार को सुबह लगभग 5 बजे लखनऊ से रवाना हुई, जो लगभग 4 खाली टैंकरों को लेकर बोकारो स्टील प्लांट और दूसरी सेवा- 11 वीं ट्रेन को भी सोमवार सुबह रवाना किया गया। इन दोनों सेवाओं को प्राथमिकता कॉरिडोर दिया जाएगा, एक बार रिफिल होने पर, उनके टर्नअराउंड समय को कम करने और महामारी के महत्वपूर्ण समय के बीच मेडिकल-ग्रेड की कमी की पर्याप्त सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए।

देश भर में ऐसी कई सेवाएं चल रही हैं, कोविड केस के भार के बीच उत्तर प्रदेश को 800 मीट्रिक टन से अधिक मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन का सबसे बड़ा हिस्सा दिया गया है। पिछले 24 घंटों में, राज्य में लगभग 29,192 मामले सामने आये हैं जिसमें राजधानी लखनऊ में 3,058 नए मामलों में शामिल हुए। शहर में आज लगभग 26 वायरस से संबंधित मौतों की सूचना दी गई थी जिसने वाइरस से होने वाली मृत्यु के आकड़ें को 18,848 तक पहुंचा दिया।