लखनऊ के सबसे खूबसूरत स्कूलों में से एक ला मार्टिनियर कॉलेज का परिसर शहर के अमूल्य इतिहास और संस्कृति को दर्शाता है। 218 वर्षों की विरासत के साथ, स्कूल की केंद्रीय संरचना, जिसे कॉन्सटैंशिया के रूप में जाना जाता है, शहर में 400 एकड़ के प्लाट में स्थित है और यह यूनेस्को का एक विश्व धरोहर स्थल है। कथाओं और तथ्यों के माध्यम से बेतहाशा लोकप्रिय, कॉन्सटैंशिया एक ऐसी संरचना है जिसकी प्राचीनता, इतिहास और विरासत 2 शताब्दी पुरानी होने के बावजूद भी बेहद दिलचस्प है।

लेबर-ईटी-कॉन्सटैंशिया (Labour -Et-Constantia)



ला मार्टिनियर कॉलेज का आदर्श वाक्य याने की motto, Labour-Et- Constantia का मुख्य तौर पर अनुवाद 'Through Labour and Constancy' है और ठीक इसी वाक्य की तरह इस पुरातन संरचना का निर्माण साल 1795 में शुरू हुआ और इसे पूरा होने में 7 साल लगे। केंद्रीय संरचना, जिसे कॉन्सटैंशिया के रूप में जाना जाता है, इस आदर्श वाक्य का एक प्रतीक है और इसी वाक्य पर इसका नाम आधारित है। इस नाम के बारे में एक और अप्रमाणित रोमांटिक धारणा भी मौजूद है, कहा जाता है कि इमारत का नाम कॉन्स्टेंस के नाम पर रखा गया था जो की एक युवा फ्रांसीसी युवती थीं, और कथित तौर पर संस्थापक जनरल क्लाउड मार्टिन का पहला प्यार थीं।

कॉन्सटैंशिया के डिज़ाइनर



यद्यपि हर मार्टिनियन इस तथ्य से अवगत है कि, कॉन्स्टेंटिया को संस्थापक मेजर जनरल 'क्लॉड मार्टिन' द्वारा डिज़ाइन किया गया था, लेकिन लखनऊ में खड़ी इस भव्य इमारत के वे अकेले निर्माता नहीं थे, इमारत के सेमी सर्कल पंख, मार्टिन के पहले ड्राफ्ट में शामिल नहीं थे, क्योंकि इस संरचना को शुरू में जनरल के निवास के रूप में इस्तेमाल किया जाना था। हालांकि, कॉन्सटैंशिया का निर्माण उनकी मृत्यु के बाद पूरा हुआ और मॉडल का विस्तार आगे 'लेफ्टिनेंट कनिंघम' और बाद में 'लेफ्टिनेंट फ्रेजर' की देखरेख में किया गया, जो ईस्ट इंडिया कंपनी के लिए काम करने वाले इंजीनियर थे।

वास्तुकला का अनोखा अजूबा



कॉन्सटैंशिया की वास्तुकला नवाबी कल्पनाओं और गॉथिक बैरक्स की एक जटिल बुनाई है । गोमती नदी के तट पर स्थित, 400 एकड़ का क्षेत्रफल (1.6 वर्ग किमी - लखनऊ गोल्फ क्लब, सिटी चिड़िया घर का हिस्सा और मार्टिन पुरवा गांव) इस एकल संस्था के कब्ज़े में है।

डिज़ाइन और सजावट



इमारत की लाइब्रेरी और चैपल को मूर्तियों से सजाया गया है, जो वेजवुड कंपनी द्वारा किया गया था, जो जोशुआ वेजवुड द्वारा स्थापित की गयी कंपनी थी। वे मिट्टी के बर्तनों का औद्योगीकरण करने के लिए जाने जाते हैं। हालांकि डिज़ाइन स्थानीय हैं, बड़े दर्पण, फ़्रेंच कालीन, संगमरमर की टेबल और पेंटिंग सभी इम्पोर्टेड थे।

जनरल क्लॉड मार्टिन का मक़बरा



1857 के विद्रोह में कॉन्सटैन्शिया की रक्षा करने वाले उन सभी सैनिकों के नाम पर सीढ़ियों और शॉर्ट सीलिंग-एड रूम की दीवारों को उकेरा गया है। टॉम्ब में क्लाउड मार्टिन का पुतला खड़ा है और यह वह जगह है जहां क्लॉड मार्टिन को उनकी मृत्यु के बाद दफनाया गया था।

घंटे और तोपें



कॉन्सटैन्शिया के ईस्ट टेरेस में एक केंद्रीय तोप है, जिसका इस्तेमाल 'लॉर्ड कॉर्नवालिस' ने 'टीपू सुल्तान' के खिलाफ सेरिंगपट्टम घेराबंदी के दौरान किया था। इस कैनन के ठीक पीछे एक भव्य घंटी है जिसके बेस पर जनरल क्लॉड मार्टिन का नाम जड़ा हुआ है।

कॉन्सटैन्शिया डे



1857 के विद्रोह में अपनी भूमिका के लिए रॉयल बैटल ऑनर्स प्राप्त करने वाला दुनिया का एकमात्र स्कूल, ला मार्टिनियर कॉलेज को 1 अक्टूबर, 1845 को संस्थागत रूप दिया गया था। तब से, इसे हर साल कॉन्सटैन्शिया डे के रूप में मनाया जाता है। स्कूल 13 सितंबर को क्लॉड मार्टिन की मृत्यु को भी याद करता है, जिसे हर साल संस्थापक दिवस के रूप में मनाया जाता है। क्लॉड मार्टिन ने अपनी वसीहत में यह मुख्य रूप से उल्लेख किया था की उनकी मृत्यु के दिन को उत्साह के रूप में मनाया जाए।

स्टैम्प पर स्कूल की छाप



ला मार्टिनियर पूरी दुनिया के बहुत कम स्कूलों में से एक है जिसने डाक टिकटों पर अपने छाप छोड़ दी हैं। 1995 में, भारत के राष्ट्रपति ने स्कूल के सम्मान में, 2 रुपये का स्टैम्प जारी किया।

नॉक नॉक (Knock Knock)

स्कूल का परिसर पर्यटकों और आगंतुकों के लिए खुला है, और प्रवेश निःशुल्क है। जो लोग इस सुरम्य संरचना की भव्यता का गवाह बनना चाहते हैं, वे शाम को 4 बजे से पहले ला मार्टिनियर जा सकते हैं। शहर के लोग अभी भी कॉन्स्टांशिया को मार्टिन साहेब की कोठी (क्लाउड मार्टिन के बंगलो) के रूप में बन्दरिया बाग से परे मार्टिन पुरवा क्षेत्र में संबोधित करना पसंद करते हैं। इमारत निर्विवाद रूप से शहर की सबसे उत्कृष्ट यूरोपीय संरचनाओं में से एक है। यह अच्छी तरह से संरक्षित है और कुशलता से कॉलेज प्रशासन द्वारा नियंत्रित किया जा रहा है। पूर्व प्राचार्य, प्रशासक और शिक्षक और वर्तमान प्रशासन संरक्षण के अपने ईमानदार प्रयासों और कॉन्स्टांशिया की समृद्ध विरासत को बनाए रखने के लिए प्रशंसा के पात्र हैं।

ताजा ख़बरों के साथ सबसे सस्ती डील और अच्छा डिस्काउंट पाने के लिए प्लेस्टोर और एप स्टोर से आज ही डाउनलोड करें Knocksense का मोबाइल एप और KnockOFF की मेंबरशिप जल्द से जल्द लें, ताकि आप सभी आकर्षक ऑफर्स का तत्काल लाभ उठा सकें।

Android - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.knocksense

IOS - https://apps.apple.com/in/app/knocksense/id1539262930