उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड उपभोक्ताओं को आसानी से और जल्द बिजली कनेक्शन प्रदान करने के लिए प्रयास कर रहा है। पावर कॉर्पोरेशन ने बिजली के नए कनेक्शन के लिए तत्काल कनेक्शन देने के ‘झटपट संयोजन पोर्टल’ पोर्टल की सेवाएं अब पूरी तरह उपभोक्ता फ्रेंडली कर दी गई है। अब अधूरा आवेदन या त्रुटियां (Error) रहने पर बिजली विभाग के जिम्मेदार अधिकारी आवेदन को अब रद्द नहीं कर सकेंगे। वह पोर्टल पर ही कमियां दूर करने का विवरण दर्ज करेंगे, जिसे आवेदक खुद ठीक कर सकेंगे।

आपको बता दें की जून के महीने में ही 1.06 लाख आवेदन आये थे, जिसमें से 10,000 को त्रुटियों के कारण रद्द करना पड़ा। अब तक झटपट कनेक्शन के ऑनलाइन आवेदन पत्रों के अधूरा रहने अथवा आवेदक द्वारा फार्म भरते समय गलतियां कर जाने से आवेदन को रद्द कर दिया जा रहा था। इससे उपभोक्ताओं को आर्थिक नुकसान हो रहा था और इसके साथ ही उन्हें मानसिक परेशानी भी हो रही थी। होता यह था की अगर किसी का आवेदन एक बार रद्द हो जाए तो उसे दोबारा पूरी प्रक्रिया करनी पड़ती थी जिससे पैसे और समय दोनों की बर्बादी होती थी। 

उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के चेयरमैन – एम. देवराज, ने मीडिया को बताया कि यह व्यवस्था उपभोक्ताओं की सहूलियत को देखते हुए की जा रही है। पोर्टल पर किया जाने वाला आवेदन महज अधूरा रहने या कुछ गलत लिख जाने के कारण खारिज नहीं होगा, इसमें सुधार कराकर कनेक्शन देने का काम अधिकारी करेंगे। बड़े बकायेदार जो नाम बदलकर कनेक्शन लेना चाहेंगे, उन्हें लाभ नहीं मिल सकेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *