लखनऊ में बीते बुधवार को 16,611 लोगों का कोविड टीकाकरण किया गया, जो उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक है। लक्ष्य टीकाकरण की यह उच्च दर शहर के 140 केंद्रों में 147 बूथों पर सक्रिय टीकाकरण के माध्यम से प्राप्त की गई थी। इनमें से 7 टीकाकरण स्थल निजी हैं जहां 1,275 खुराकें प्रदान की गई हैं। वहीं 15,336 वैक्सीन डोज का शेष हिस्सा सरकार द्वारा संचालित केंद्रों में दिया गया था।

यूपी में कोरोना वायरस टीकाकरण की प्रक्रिया में लखनऊ अन्य सभी राज्यों से बेहतर और तेजी से काम कर रहा है, लोगों में भी टीकाकरण के प्रति उत्साह है। जिले में लगभग 3 मेगा टीकाकरण केंद्र भी हैं, जो यहां एक गतिशील प्रतिरक्षा कार्यक्रम को आगे बढ़ाने में सहायता कर रहे हैं। इनमें से प्रत्येक केंद्र में एक निश्चित समय में 1,000 से अधिक लोगों को रखने की क्षमता है। जनवरी 2021 में टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से, पूर्ण संख्या के अनुसार, राज्य की राजधानी में 10.77 लाख से अधिक लोगों को टीका लगाया गया है।

इन मेगा टीकाकरण केंद्रों के अलावा, लखनऊ में महिलाओं में कोविड टीकाकरण को प्रोत्साहित करने के लिए लखनऊ में विशेष ‘पिंक बूथ’ भी स्थापित किए गए हैं। इन बूथों की सबसे अच्छी बात यह है कि पंजीकरण से लेकर टीकाकरण तक, बिना किसी हिचकिचाहट के महिलाओं के बीच परेशानी मुक्त टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए यहां एक महिला कर्मचारी तैनात है। इस पहल ने टीकाकरण कार्यक्रम को शहर की दक्षता और क्षमता को बढ़ाया है। लखनऊ में बीते बुधवार को करीब 7,088 महिलाओं का टीकाकरण किया गया।

 तेजी से आगे बढ़ रहा है यूपी का मेगा टीकाकरण अभियान

उत्तर प्रदेश में टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिए ‘मिशन जून’ के बैनर तले आवश्यकता के आधार पर लखनऊ, कानपुर और अन्य जिलों में ये प्रावधान स्थापित किए गए हैं। इस अभियान को कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के खिलाफ देश की सबसे महत्वाकांक्षी टीकाकरण गतिविधि के रूप में आंका गया है। अभी तक राज्य में 2.15 करोड़ टिके प्रशासित किए जा चुके हैं, जिसमें 7.9% आबादी के लिए कम से कम एक खुराक शामिल है। इस टैली में से 1.6% दोनों खुराक के साथ पूरी तरह से टीका लगाए गए हैं।

 

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *