मुख्य बिंदु

– लखनऊ में दो साल बाद इंदिरा गांधी तारामंडल को 10 सितंबर से लोगों के लिए दुबारा खोला गया।

– यहां हर-रोज़ 45 मिनट के 4 शोज़ दिखाए जाएंगे।

– 3 वर्ष से अधिक सभी लोगों के लिए प्रवेश शुल्क 25 रूपये रहेगा। 

लखनऊ में इंदिरा गांधी तारामंडल ने दो साल के लंबे अंतराल के बाद 10 सितंबर को जनता के लिए अपने दरवाजे खोल दिए। रिपोर्ट के अनुसार, अब से यहां पहले की तरह सभी स्क्रीनिंग और शोज़ आयोजित किए जाएंगे। अधिकारियों के अनुसार, सभी कार्यक्रमों का संचालन कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा।

यहां प्रतिदिन 45 मिनट के 4 शोज़ दिखाए जाएंगे

पिछले साल कोरोनोवायरस महामारी के बढ़ते प्रभाव के बीच, विज्ञान और प्रौद्योगिकी परिषद ने राज्य की राजधानी में इंदिरा गांधी तारामंडल सहित यूपी के सभी तीन तारामंडल को बंद कर दिया था। दूसरी लहर के आगमन के साथ, इस केंद्र को इस साल भी लॉकडाउन के चलते बंद रखा गया था।

अब लखनऊ में अधिकांश शैक्षणिक संस्थान फिर से खुल गए हैं और वहां से सबसे अधिक लोग तारामंडल में घूमने आते हैं, जिसे देखते हुए तारामंडल अधिकारियों ने भी इसे दुबारा खोलने का फैसला किया है। कथित तौर पर, यहां रोजाना 4 शो दिखाए जाएंगे, जिनमें से प्रत्येक लगभग 34 से 45 मिनट तक चलेगा। ‘कॉस्मिक जर्नी’ शीर्षक वाला यह कार्यक्रम शनिवार और रविवार को पहले शो को छोड़कर, सभी स्क्रीनिंग के दौरान हिंदी भाषा में चलेगा।

संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए अधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी कोविड मानदंडों का सख्ती से पालन किया जाए। जहां 3 वर्ष से अधिक आयु के सभी आगंतुकों को ₹25 का टिकट लेना होगा, वहीं विकलांगों के लिए प्रवेश निःशुल्क है।

समय: 11 AM to 6 PM 

सोमवार को बंद रहेगा

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *