बीते गुरूवार को यूपी में अभी तक का सबसे कम कोरोना पॉजिटिविटी रेट 0.3% दर्ज किया गया। यह बेशक यूपी के लोगों के लिए राहत का सबब है। जबकि राज्य में 1,268 नए मामले दर्ज किए गए, लखनऊ में मामले लगातार चौथे दिन 100 से नीचे रहे और 3 जून को 75 नए मामले दर्ज किए गए। पिछले कुछ दिनों में सक्रीय मामलों की संख्या में काफी कमी आयी है इसके साथ ही पिछले कुछ दिनों में पॉजिटिविटी दर 0.5% के आस पास घटा बढ़ा है।

पिछले कुछ दिनों में औसतन 3 लाख सैंपल्स का टेस्ट किया गया

एक सरकारी प्रतिनिधि ने कहा, “यूपी कोरोना टेस्टिंग में सबसे आगे रहा है। पिछले 24 घंटों में पॉजिटिविटी दर वास्तव में 0.3 प्रतिशत था जो की अब तक का सबसे कम है।” उन्होंने आगे बताया कि जल्द से जल्द जांच और आइसोलेशन ने संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने में सहायता की है। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना मामलों की अधिक घटती हुई संख्या अपने साथ उम्मीदों की नयी किरण लेकर आयी है।

गौरतलब है कि एकत्रित किये गए कुल सैंपल में से जो सैंपल पॉजिटिव आये हैं, उनका अनुपात जो है वही मामलों की पॉजिटिविटी दर। यह किसी भी समय, किसी भी स्थान पर महामारी की स्थिति को समझने में मदद करता है। आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार, पिछले कुछ दिनों में औसतन 3 लाख टेस्ट किए गए हैं और पिछले 24 घंटों में 3,40,411 सैंपल की जांच की गई है। 

अपर मुख्य सचिव (एसीएस) स्वास्थ्य और परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद ने कहा, “आज की तारीख में, यूपी का मामलों का संचयी पॉजिटिविटी रेट लगभग 3.4 प्रतिशत है, जो कि पीक पर दर्ज हुए 18 प्रतिशत के आंकड़े से काफी कम है।” उन्होंने यह भी बताया कि राज्य में वर्तमान में 25,546 सक्रिय मामले हैं और रिकवरी रेट 97.3% है। जहां गुरुवार को राज्य में 4,260 लोग ठीक हुए, वहीं लखनऊ में 282 व्यक्तियों ने उसी दिन वायरस के खिलाफ अपनी लड़ाई जीती।

गंभीर रूप से, गुरुवार को राज्य में कुल 108 मौतें दर्ज की गईं, जबकि राजधानी शहर की मृत्यु संख्या में 3 और मृत्यु दर्ज हुई। अब तक, उत्तर प्रदेश में संक्रमण से 16,95,212 व्यक्ति संक्रमित हुए हैं । इनमें से 20,895 की घातक वायरस से मृत्यु हो चुकी हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *